Fast Technique for Organic Fertilizer Production.

Steps for Organic Fertilizer Production:

  • Size of vermicompost unit is 7*3*1 cubic feet. In this the length of unit is 7 feet, width is 3 feet and height is 1 foot. Please do not make vermi unit of more height. Height may be kept 1, 1.5 and 2 feet only. One feet height is best. Farmers may construct units of different sizes as per their requirement. One unit of above given size is sufficient for one 0.4 Hectare (One Acre)

  • Vermicompost unit is constructed with bricks and cement. Plaster is done to all sides or walls- inside, outside and floor. One side of floor of unit is kept lower. At this corner a pipe is inserted to collect vermi-wash.
  • Farmers can make the vermicompost unit with plastic sheet. Or plastic vermicompost unit can be purchased online or from agriculture input shop at the cost of Rs. 2-3 thousand per unit. But this unit is not durable. Its durability is only for 2-3 years.
  • 15-30 days old dung of cow or buffaloes is filled in vermicompost unit. Fresh dung should not use for vermicomposting. The unit is filled up to 45 cm or 0.75 feet. Unit is not filled fully; some place from upper side should be left unfilled.
  • Water is sprayed over the dung after filling the unit. Wet the dung sufficiently that water should not come out from the dung.
  • Now the hut is made over the vermicompost unit. This hut must cover entire unit. The sunlight must not come on dung at any time of the day. Its height should be kept like that a person should bow while entering into the unit.
  • Wait for 4-5 days to cold the dung thoroughly. After this the earthworms are put in the unit. At one side of unit a shallow pit is made and in this pit the earthworms are spread on the dung and wait for some time (5-10 minutes). After some time, the earthworm go inside the dung and the pit is covered with a very thin layer of dung. Or the earthworms can be spread on the dung at one side of unit and wait for some time. This must be done in early morning or in the evening.
  • The entire dung is covered with the bags of jute after putting earthworm in the unit and little water is spread over the dung.
  • After 4 – 7 days the vermicomposting can be seen. The composting will start, it can be seen uncovering or removing the jute bag from the dung at one side.
  •  The vermicompost is ready in 45 days. It can be used in field directly or can be stored in bags for next crops.

  • When vermicompost is ready, make the heap of compost and wait for some time the earthworms will go inside, now take the compost and keep it at other side, again make the heap and wait for some time, the earthworms will go inside than remove the compost. Follow this method to separate the compost from the earthworms. Or compost can be separated by sieving.
  • At last the maximum vermicompost can get  separated from the earthworm. And the small heap of earthworms and vermicompost remain.
  •  Now fill the unit again as given above and put the mixture of earthworms and compost into the dung of the unit. So, the vermicomposting will happen continuously.
    • 1.5 to 2 kg. earthworms are sufficient for the one unit.
    • So, like this farmer can make the vermicompost easily.
    • N:P:K ratio is 1.25 – 2.25% : 1.5-2.5% : 1-2%
    • 2 MT vermicompost is sufficient for one acre with other organic components.
  • Thanks.

For more information about agriculture,

Please visit our YouTube channel – Digital Kheti. https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA

Organic Khad Production Through Earthworms, High Potential Organic Khad, Organic Khad, Organic Manure, Organic Fertilizers, Organic Rich vermicompost, Vermicompost Organic Fertilizer, NPK Nutrients Rich Organic Fertilizer, Vermicompost Production Technique, Technology of Vermicompost Production, Earthworms Rearing for Organic Fertilizer,  Fast Technique for Organic Fertilizer Production, Kenchua Khad Utpadan Ki Takniki, Kenchua Khad, Vermicompost, Organic Manure by Earthworms, Organic Vermicompost, Jaivik vermicompost, Kenchua dwara Jaivik Khad Utpadan, ,

High Quality Vermi-Compost, Organic Rich vermi-compost, केंचुआ खाद उत्पादन तकनीकि.

वर्मी कम्पोस्ट, केंचुआ का खाद, केंचुआ खाद, केंचुआ द्वारा जैविक खाद का उत्पादन, जैविक केंचुआ खाद, जैविक वर्मी कम्पोस्ट. जैविक खाद उत्पादन तकनीकि,   Vermi-Compost, Organic Manure by Earthworms, Organic Vermi-Compost, Organic Khad production through Earthworms, High potential Organic Khad, Organic Khad, Organic Manure, Organic Fertilizers, Organic Rich vermicompost,

केंचुआ द्वारा जैविक खाद निम्नलिखित स्टेप द्वारा बनाया जाता है.

  •  वर्मी किट या वर्मी कम्पोस्ट यूनिट का साइज़ 7*3*1 फीट रहता है. इसमें वर्मी यूनिट या खड्डे की लम्बाई 7 फीट, चौड़ाई 3 फीट व ऊँचाई 1 रहती. ज्यादा ऊंचाई के वर्मी यूनिट न बनाये.
  • वर्मी यूनिट जमीन के ऊपर पक्की सीमेंट व ईंटो से बनाई जाती है. तथा यूनिट की ढलान वाली एक साइड में छेद रखके उसमे पाइप लगा दिया जाता है ताकि वर्मी वॉश इकठ्ठा कर सके. किसान भाई चाहे तो अन्य साइज़ के यूनिट भी बना सकते है.
  • किसान भाई मजबूत प्लास्टिक की शीट से भी वर्मी यूनिट बना सकते है.
  • आजकल बाजार में प्लास्टिक की वर्मी किट 2-3 हजार रुपये में कृषि की दुकानों या ऑनलाइन मिल जाती है लेकिन यह टिकाऊ या ज्यादा दिन तक नहीं चलती है. केवल 2-3 साल ही चलती है.
  • वर्मी यूनिट को 15 से 30 दिन पुराने गोबर से भरा जाता है. पशु द्वारा तुरन्त किये गोबर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. वर्मी यूनिट को थोड़ा खाली छोड़ देना चाहिए पूरा ऊपर तक नहीं भरते है. एक फुट ऊँचाई के वर्मी यूनिट में 45 से.मी. (3/4 फीट) तक ही गोबर भरना चाहिए.  
  • गोबर भरने के बाद गोबर के ऊपर पानी छिड़का जाता है. गोबर को इतना गीला करते है की इसमें से पानी बाहर न निकले.
  • पानी छिड़कने के 4-5 दिन बाद जब गोबर पूरी तरह ठण्डा हो जाता है तो उसमे केंचुए छोड़े जाते है. वर्मी यूनिट में एक साइड में गोबर में एक छोटा सा गड्डा करते है और केंचुआ को वहा बिखेर देते है और थोड़ी देर इन्तजार करते है सभी केंचुए थोड़ी देर में गोबर में घुस जाते है गड्डे को थोड़े से गोबर से ढक देते है.
  • गोबर में केंचुआ डालने के बाद गोबर को जूट के बोरों से ढक दिया जाता है. और गोबर के ऊपर थोड़ा पानी छिड़क देते है.
  • गोबर में केंचुआ डालने के तुरंत बाद या पहले पूरी वर्मी यूनिट दे ऊपर छाव की जाती है. वर्मी यूनिट के चारों तरफ खम्बा गाड़कर उसके ऊपर फूस वगेरह से छान छाई जाती है.
  • पूरे दिन में कभी भी वर्मी यूनिट के ऊपर धूप नहीं आनी चाहिए. छान या टटिया के ऊंचाई इतनी रखे की किसान वर्मी यूनिट में थोड़ा झुककर घुसे.
  • 4-5 दिन बाद बोरा को उठा कर देखेंगे तो खाद बनता हुआ दिखाई देंगा.
  • 45 दिन में खाद पूरी तरह बनकर तैयार हो जाता है. इसके सीधे खेत में इस्तेमाल करे या बोरों में भरकर अगली फसल के लिए रख दे.
  • खाद बनने के बाद खाद के ढेर बनाये,उसकों थोड़ी देर छोड़ दे केंचुए नीचे चले जायेंगे अब ऊपर से खाद को निकालकर अलग रखे. इसी तरह फिर ढेर बनाये थोड़ी देर इंतेजार करे केंचुए को नीचे जाने दे फिर ऊपर से खाद को अलग कर ले इसी क्रिया को दोहराते रहे. अंत में केवल खाद का ढेर अलग रहता है और थोड़ा खाद व केंचुए का ढेर बचता  है.
  • वर्मी यूनिट को ऊपर बताये अनुसार दुबारा भरे व खाद व केंचुए के मिक्स ढेर को गोबर में छोड़ दे दुबारा खाद बनाना शुरू हो जायेगा.
  • खाद बनने के बाद यूनिट को गोबर से भरते रहे. तो लगातार खाद बनता रहेगा.
  • इस तरह से किसान भाई आसानी से खाद बना सकते है.

ज्यादा जानकरी के लिए कृपया इस वीडियो को जरूर देखे .

धन्यवाद

Agriculture work during Lock Down. Covid – 19, नोवेल कोरोना वायरस लॉकडाउन में कृषि कार्यों के लिए दिशा निर्देश

नोवेल कोरोना वायरस ( COVID – 19 ) के लिए लॉकडाउन की स्थिति में रबी फसल कटाई, खरीफ 2020 के लिए खाद, बीज व  दवाई आदि की उपलब्धता व कृषि क्षेत्र में खाद बीज दवाई के उत्पादन, वितरण व परिवहन के लिए दिशा निर्देश –

  1. बीज, उर्वरक एवं कीटनाशक दवाओं का उत्पादन, पैकेजिंग, परिवहन व वितरण करने की अनुमति/छूट सुबह 9 बजे से सांय 4 बजे तक रखी गई है.
  2. बीज, उर्वरक एवं पेस्टीसाइड दवाओं के विक्रय के लिए के विक्रेता – डीलर व होलसेलर के लिए अपनी दुकान सुबह 07 बजे से 11 बजे तक खोल सकते है. केवल 4 घंटे अपनी दुकान खोल सकते है.
  3. रेलवे रैक द्वारा उर्वरकों की आपूर्ति हेतु सड़क मार्ग से परिवहन द्वारा भण्डारण व विक्रय केंद्र तक पहुचाने की छूट है.
  4. बीज उत्पादन करने के लिए बीज की ग्रेडिंग व प्रोसेसिंग सेंटर को व बीज के भंडारण व परिवहन के लिए सुबह 10 बजे से शाम 04 बजे तक प्रोसेसिंग यूनिट आदि को खोलने की छूट है.
  5. रबी फसलों में कटाई में प्रयुक्त होने वाले हार्वेस्टर, ट्रेक्टर, कस्टम हायरिंग सेंटर व अन्य कृषि यंत्रो के संचालन, परिवहन, व कटाई आदि की छूट है. साथ ही यंत्रो के रिपेयरिंग के लिए गेराज, दुकान सर्विस सेंटर को खोलने की अनुमति है.
  6. फसल कटाई के दौरान कोरोना वायरस से बचाव के लिए आवश्यक उपायों का पालन करना जरूरी है.
  7. अनुमति के दौरान 2 से 5 व्यक्तियों से ज्यादा व्यक्ति इकठ्ठा ना हो.
  8. किसी भी कृषि कार्य के दौरान प्रत्येक व्यक्ति कम से कम 6 फीट की दूरी रखे.
  9. मास्क सेनेटाईजर का प्रयोग करना अनिवार्य होगा.
  10. जिस व्यक्ति को सर्दी, खांसी, जुकाम व बुखार आदि है  उस ब्यक्ति कोई भी कार्य न लिया जाये.
  11. फसल कटाई मशीन संचालक सम्बंधित ग्राम सचिव व रोजगार सहायक को आने-जाने की सूचना जरूर दे.

यह कृषि कार्यों के लिए भारत सरकार व राज्य सरकार के दिशा निर्देश है.

ज्यादा जानकरी व अपने जिले व राज्य में दिशा निर्देशों के लिए अपने तहसील, विकासखंड या जिले में कृषि अधिकारी या अपने जिले में कलेक्टर कार्यालय में संपर्क करे.

इन निर्देशों के साथ समय समय पर जिला कलेक्टर व अन्य सम्बंधित विभाग द्वारा भी दिशा निर्देश भी जारी किये जाते है अत उनका भी पालन करना अति आवश्यक है.

वायरस से वचाव के लिए अति जरूरी न हो तो घर से बिल्कुल न निकले.

घवराये नहीं दिए गए नियमों का पालन करे.

……………………..धन्यवाद………………………..

कड़कनाथ मुर्गीपालन व्यवसाय

मुर्गीपालन पालन व्यवसाय –

खेती में मुर्गीपालन एक बहुत ही महत्वपूर्ण व्यवसाय है. जिन क्षेत्रों में लोग चिकन खाते है उन क्षेत्रों के लोग इसका व्यवसाय कर सकते है. यह मुर्गा ब्रॉयलार मुर्गे की तुलना में काफी महगा बिकता है. जों इसका खरीदना चाहते है या इसका व्यवसाय करना चाहते है वो लोग इसके लिए कृषि विज्ञान केंद्र झाबुआ मध्यप्रदेश में संपर्क कर सकते है. उनका संपर्क विवरण ऑनलाइन मिल जायेगा. वहा पर संपर्क करके कोई भी चूजे बुक करा सकते है. चूजों के लिए पैसे पहले जमा कराने पड़ते है उसके कुछ दिन बाद उनकों कड़कनाथ मुर्गे के चूजे मिल जाते है. यह एक केन्द्रीय सरकार का संस्थान है.

Minimum Support Price-Kharif Crops.

Minimum Support Price 2019 –

MSP Kharif -2019.

This is the minimum rate of crops, which must be obtained by farmer at the time of sale of agriculture produce or crop in mandi.

If farmer sale his crop at minimum support price he gets 50% profit (50% return over all India weighted average cost of production) on sale of his crop in mandi.

MSP – State governments purchase crop of farmers if rate of crop is lower than minimum support price.

MSP -2019– Kharif Season Crops

1. A. Paddy – common-

  • New MSP – 1815 Rs/Quintal.
  • Old MSP – 1750 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 65 Rs. /Quintal.

B. Paddy – Grade – A

  • New MSP – 1835 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 1770 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 65 Rs. /Quintal.

2. A.  Sorghum (Jowar) Hybrid-

  • New MSP – 2550 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 2430 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 120 Rs. /Quintal.

B. Sorghum (Jowar) – Malandai.

  • New MSP – 2570 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 2450 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 120 Rs. /Quintal.

3. Ragi – 

  • New MSP – 3150 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 2897 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 253 Rs. /Quintal.

4. Bajra (Pearl Millet)  

  • New MSP – 2000 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 1950 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 50 Rs. /Quintal.

5. Maize

  • New MSP – 1760 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 1700 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 60 Rs. /Quintal.

6. Tur – Arhar (Pigeon Pea) –

  • New MSP – 5800 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5675 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 125 Rs. /Quintal.

7. Moong (Green gram)  

  • New MSP – 7050 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 6975 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 75 Rs. /Quintal.

8. – Urad (Black Gram)  

  • New MSP – 5700 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5600 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 100 Rs. /Quintal.

9. Groundnut with shell – 

  • New MSP – 5090 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 4890 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 200 Rs. /Quintal.

10. Sunflower – 

  • New MSP – 5650 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5388 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 262 Rs. /Quintal.

11. Soybean – 

  • New MSP – 3710 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 3399 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 311 Rs. /Quintal.

12. Sesamum

  • New MSP – 6485 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 6249 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 236 Rs. /Quintal.

13. Ramtil (Niger Seed)  

  • New MSP – 5940 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5877 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 63 Rs. /Quintal.

14. A. Cottonmedium staple –  

  • New MSP – 5255 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5150 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 105 Rs. /Quintal.

B. Cotton – Long staple

  • New MSP – 5550 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5450 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 100 Rs. /Quintal.

Now Madhya Pradesh state government will purchase Soybean, Maize, Black Gram (Udad), Arhar (Pigeon Pea), Cotton, Til (Sesamum), Ramtil (Niger seed) on MSP.

So, Farmers of Madhya Pradesh State, first register their Kharif crops in cooperative Societies, Mandi near of you in your district, Tehsil and Block, then sale the crops in Mandi.

So that benefit of minimum support price can be taken.

Farmers of other state must contact in agriculture department of your District.

Vacancy in Kribhco, कृभको में भर्ती

कृभको में फील्ड रिप्रेजेन्टेटिव (Field Representative), (ट्रेनी) (trainee) की भर्ती.

कृभको का पूरा नाम कृषक भारती कोआपरेटिव लिमिटेड है.

KRIBHCO – Krishak Bharti Cooperative Ltd.

कृभको भारत के कई राज्यों में खाद का उत्पादन व बेचने का कार्य करती है. इस सहकारी संस्था को भारत के बिभिन्न राज्यों- हरियाणा, पंजाब, उत्तरप्रदेश, बिहार,पश्चिम बंगाल,आन्ध्रप्रदेश, छत्तीसगड, तेलंगाना,गुजरात,राजस्थान,व उत्तराखंड में खाद की मार्केटिंग के लिए ट्रेनी की भर्ती करनी है.

इसमें ट्रेनी के रूप में कार्य करने के लिए 34000 रुपये की सैलरी दी जाएगी व इसके साथ ही एच.आर.ए., पी.एफ., मेडिकल सुविधा, व जीवन बीमा की सुविधा भी दी जाएगी. ट्रेनिंग समाप्त होने के बाद ट्रेनी (फील्ड रिप्रेजेन्टेटिव) को स्थायी पोस्ट पर पदौन्नत कर दिया जायेगा, जिसमे उनको 34000-76000 रुपये का पे स्केल मिलेगा व इसके साथ ही स्थायी सरकारी अधिकारी के तरह अन्य सुविधाये भी दी जाएँगी.

इस पद पर आवेदन करने के लिए योग्यता –

आवेदक – बी.एस.सी. कृषि. ,कम से कम 65% के साथ या इसके सामान सी.जी..पी.ए. होना चाहिए

आयुसीमा – आवेदक की उम्र अधिकतम 23 साल होनी चाहिए. 23 साल से बड़े उम्र के आवेदक, आवेदन नहीं कर सकते है. आवेदक का जन्म 01.04.1996 से बाद का होना चाहिए.

चयन प्रक्रिया – इसमें कम्पूटर द्वारा लिखित परीक्षा ली जाएगी व  इसके बाद साक्षात्कार लिया जायेगा.

आवेदन की अंतिम दिनांक – आवेदन दिनांक 28.10.2019 से 17.11.2019 तक कर सकते है.

कम्पुटर आधारित परीक्षा की दिनांक – 01/12/2019 को आयोजित की जाएगी.

यह परीक्षा भारत के पांच जिलों – अहमदाबाद, हैदराबाद,रांची, भोपाल व नोइडा में आयोजित की जाएगी, अभ्यर्थी इनमे से कोई भी स्थान का चुनाव कर सकते है.

आवेदन की प्रक्रिया –

आवेदन ऑनलाइन किये जायेंगे.

आवेदन करने के लिए इनकी वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना है.

www.kribhco.net

इस वेबसाइट पर जाकर “करियर” सेक्शन (Career) पर जाना है और वहा पर क्लिक करके आवेदन करना है.

आवेदन के लिए आपके पास एक मेल आईडी होना चाहिए.

आवेदन की पासपोर्ट साइज़ फोटो व सिग्नेचर की स्कैन कॉपी भी अपलोड करनी है.

आवेदन के समय मोबाइल साथ में रखे उस पर पर ओ.टी.पी. आयेगा.

आवेदन के तीन भाग है – 1. Sign up ( पहले साइनअप ) करना है.

2. पंजीयन फॉर्म – Registration Form –  यह फॉर्म भरना है.

3. पेमेंट का भुगतान – आवेदन की फीस ऑनलाइन भरनी है.

आवेदन की फीस 450 रुपये है.

हमारी इस वेवसाईट पर हम कृषि से सम्बंधित पोस्ट या ब्लॉग लिखते है. ताकि किसान भाइयो को खेती के बारे में नई-नई जानकारी मिलती रहे.

आप सभी से निवेदन है हमारी इस पोस्ट/ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे. पोस्ट के नीचे सबमिट(Submit) का बटन है, तो उस में अपना नाम व मेल आई.डी. लिखकर सबमिट(Submit) बटन पर क्लिक करेंगे तो वेवसाईट को सब्सक्राइब हो जायेगी

इस जानकारी को आप अपने दोस्तों में व्हाट्सअप या फेसबुक पर शेयर जरूर करे.

अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स है उसमे अपना कमेंट, नाम एवं मेल आई.डी. लिखकर, “पोस्ट कमेंट” के बटन पर क्लिक करे.

हमारे इस नवीन ब्लॉग को पढ़ने के लिए धन्यवाद

THANKS
for Reading Our Latest Blog on
www.kisanhomecart.com,

खेती बाड़ी में ज्यादा जानकारी के लिए जरूर विजिट करे हमारा यूट्यूब चैनल -डिजिटल खेती कृपया डिजिटल खेती Digital Kheti चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे. https://www.youtube.com/Digitalkheti

PM-Kisan Samman Nidhi- पी.एम.किसान सम्मान निधि

PM-Kisan Samman Nidhi- पी.एम.किसान सम्मान निधि

प्रधानमन्त्री किसान सम्मान निधि –

इस योजना के अन्तरगत किसानों को 6000 रुपये प्रति साल के हिसाब से आर्थिक सहायता दी जाती है.

यह पैसा साल में तीन वार दिया जाता है. प्रत्येक क़िस्त में 2000 रुपये दिए जाते है.

योजना के पैसे सीधे किसान के खाते में आते है.

यह योजना 01.12.2018 से शुरू हुई थी.

इस योजना केवल उन किसानों के लिए है जिनके नाम पर जमीन है.

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को अपना आधार कार्ड, राशन कार्ड, बैंक पासबुक की फोटोकॉपी अपनी तहसील में पटवारी, ग्राम पंचायत सचिव या ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को देनी है. और अपना पंजीयन कराना है.

इसके बाद किसानों को इसका लाभ मिलना शुरू हो जायेगा.

खाता खसरा या ऋण पुस्तिका में जितने भी लोगों का नाम है जैसे सयुक्त खाते में जितने भी नाम है, उन सभी के कागजात देने है. केवल उन लडकियों को छोड़कर जिनकी शादी हो गई है. या मृत व्यक्ति को छोड़कर.

पहले यह योजना लघु (1-2 हेक्टर) व सीमान्त (1 हेक्टर से कम) किसानों के लिए ही थी. लेकिन बाद में सभी किसानों के लिए कर दी गई है.

इस योजना का लाभ इन किसानों को नहीं मिलेगा जो –

लोकसभा या राज्यसभा या विधान सभा के सदस्य है.

जो नगरपालिका या जिला पंचायत के अध्यक्ष है .

केंद्र या राज्य सरकार के अंतर्गत नौकरी करने वाले. ( चपरासी व मल्टी टास्किंग स्टाफ को छोड़कर – ये लोग आवेदन कर सकते है.

सभी अधिकारी व कर्मचारी जो इनकम टेक्स (आयकर) देते है.

किसान भाई चाहे तो खुद भी पंजीयन कर सकते है.

इसके लिए उनको www.pmkisan.gov.in पर जाना है

उसके बाद इस वेबसाइट पर Farmer Corner (फार्मर कॉर्नर) दिखेगा उस पर क्लिक करना है जिसमे चार विकल्प आएंगे.

सबसे पहले New Farmer Registration का विकल्प आयेगा जिस पर क्लिक करके किसान भाई अपना पंजीयन का सकते है. इसमें किसान को समस्त पूछी गई जानकरी भरनी बैंक खाते के विवरण के साथ जिस खाते में किसान भाई क़िस्त डलवाना चाहते है.

जिन किसानों के आधार नंबर में कोई गलती हो गई है पंजीयन के समय वो आधार कार्ड के गलती को सुधार सकते है. उनको वेबसाइट के फार्मर कार्नर (Farmer Corner) के दुसरे नंबर के विकल्प – Edit Aadhar Failure Record पर क्लिक करना है और आधार नंबर डालकर search (खोजना) करना है. और आधार नंबर में गलती को सुधारना है.

Beneficiary Status – अगर किसान जानना चाहता है की उसका नाम सम्मान निधि में जुड़ा है की नहीं और उसकी क़िस्त मिली है की नहीं उसके लिए उसको वेबसाइट के फार्मर कार्नर में तीसरे नंबर के विकल्प – Beneficiary Status पर क्लिक करना है और आधार नंबर या बैंक खाता नंबर या मोबाइल नंबर डालकर अपना स्टेटस (स्थिति) चेक कर सकते है.

Beneficiary List – अगर किसान जानना चाहते है की उनके गाँव में किस-किस किसान या कुल कितने किसानो का पी.एम. सम्मान निधि में नाम है तो वो इस आप्शन पर क्लिक करके जान सकते है. इसमें किसानों को अपना राज्य जिला, उपविकास खंड (Block) व गाँव चुनना है और Get Report पर क्लिक करेंगे तो पुरे गाँव के किसानों की लिस्ट आ जाएगी.

इस तरह से किसान भाई इस योजना के बारे में पूरी जानकरी ले सकते है और उनकों योजना का लाभ नहीं मिल रहा है या कोई दिक्कत आ रही है तो वो इस वेबसाइट पर जाकर उस समस्या का समाधान कर सकते है.

यह केंद सरकार – भारत सरकार की योजना है जिसमे पूरा पैसे केंद्र सरकार द्वारा किसानों को दिए जाते है. राज्यों के सरकारों को केवल किसानों के पंजीयन करने के जिम्मेदारी दी गई है.

हमारी इस वेवसाईट पर हम कृषि से सम्बंधित पोस्ट या ब्लॉग लिखते है. ताकि किसान भाइयो को खेती के बारे में नई-नई जानकारी मिलती रहे.

आप सभी से निवेदन है हमारी इस पोस्ट/ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे. पोस्ट के नीचे नीले रंग का सबमिट(Submit) का बटन है, तो उस में अपना नाम व मेल आई.डी. लिखकर व नीले रंग के सबमिट(Submit) बटन पर क्लिक करेंगे तो वेवसाईट को सब्सक्राइब हो जायेगी

जब भी हम कृषि या कृषि की योजनाओं के बारे में नई पोस्ट डालेंगे, तो आपको नोटिफिकेशन के द्वारा जानकारी मिल जायेगी. इस जानकारी को आप अपने दोस्तों में व्हाट्सअप या फेसबुक पर शेयर जरूर करे. और अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स है उसमे अपना कमेंट, नाम एवं मेल आई.डी. लिखकर, नीले रंग के पोस्ट कमेंट के बटन पर क्लिक करे.

हमारे इस नवीन ब्लॉग को पढ़ने के लिए धन्यवाद THANKS
for Reading Our Latest Blog on
www.kisanhomecart.com,

खेती बाड़ी में ज्यादा जानकारी के लिए जरूर विजिट करे हमारा यूट्यूब चैनल – कृपया डिजिटल खेती Digital Kheti चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे. https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA

Vacancy in Agri, Assistant Director Agriculture

Vacancy in Madhya Pradesh Public Service Commission.

  • Assistant Director,
  • Kisan Kalyan & Krishi Vikas Vibhag (Farmer Welfare & Agriculture Department (Field and Extension).

Post – Assistant Director (Agriculture).

  • Name of Department – Kisan Kalyan & Krishi Vikas Vibhag (Farmer Welfare & Agriculture Department.
  • Class– Gazetted Second Class.
  • Salary – 15600-39100 + 5400 Grade Pay.

Eligibility for Post – Post Graduate in Agriculture or Graduate in Agriculture Engineering. Commencement of Application – 08.11.2019.

  • Last Date of Application – 07.12.2019.
  • Total Vacancy – 37.
  • Unreserved – 17,
  • SC- 05,
  • ST – 02,
  • OBC – 09,
  • Economically Weaker Class – 04.
  • Age Limit – 21 years to 40 years.
  • Age calculation Date – 01.01.2020
  • Selection Process – Online Examination & Interview.

How to Apply – Applicant can apply online through www.mponline.gov.in, www.mppscdemo.in,   www.mppsc.nic.in, & www.mppsc.com. Fee for application and examination.1250 for SC, ST and Divyangjan  of MP.For other – 2500 Rs.

  • Process of Examination – single examination will be held with two part.
  • Part A- 50 Questions –
  • General knowledge of Madhya Pradesh – 35 Question.
  • General knowledge of India – 10 Question.
  • General knowledge of World – 05 Question.
  • Part B- 100 Question – Related to Agriculture Subject.
  • There will be 150 questions carrying 3 marks each. So online examination will be of 450 Marks.
  • Duration of Examination – it will be 3 hours.
  • Minimum 40 % must be scored in both the parts of examination separately.
  • Question will be multiple choices – there will be four choices (A,B,C & D) of each question.
  • There will be negative marking. One mark will be deducted for each wrong answer.

Interview – Interview will be organised.

  • Interview will be of 50 marks.
  • Online examination qualified Candidate will be interviewed.
  • More than three times candidates of vacant post will participate in interview.
  • Then final result will be announced.

On this website, we write posts or blogs related to agriculture. So that the farmer brothers get new information about farming.

You are requested to subscribe to this post / blog. Below the post there is a “submit” button, write your name and mail id in it. By typing and clicking on the “submit” button, the website will be subscribed.

And whenever we put a new post about agriculture or agricultural schemes, you will get information through notifications. You must share this information among your friends on WhatsApp or Facebook.

And if you want to ask something, then there is a comment box under the post, write your comment, name and mail id in it. After this click on the “post comment” button.

Thanks for reading our latest blog On our website – www.kisanhomecart.com,

Vacancy in Agriculture, कृषि विभाग में भर्ती,

मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग में पद रिक्ति ( Vacancy)

सहायक संचालक

किसान कल्याण एव कृषि विकास ( क्षेत्र एव विस्तार )

पद का नाम – सहायक संचालक, किसान कल्याण एव कृषि विकास  (क्षेत्र एव विस्तार)

विभाग का नाम – किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग.

श्रेणी – राजपत्रित द्वितीय श्रेणी

वेतनमान – 15600 – 39100 + 5400 ग्रेड पे.

पद के लिए योग्यता – बी.एस.सी. कृषि में स्नाकोत्तर या कृषि इंजीनियरिंग स्नातक.

आवेदन की तारीख – 08.11.2019 से शुरू

आवेदन करने की अंतिम तारीख – 07.12.2019

कुल पद – 37

अनारक्षित – 17, अनुसूचित जाति – 05, अनुसूचित जनजाति – 02 अन्य पिछड़ावर्ग – 09, आर्थिक कमजोर वर्ग – 04

आयु सीमा – 21 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक.

आयु गणना की तिथि – 01.01.2020

चयन प्रक्रिया – ऑनलाइन परीक्षा व साक्षात्कार.

आवेदन प्रक्रिया – आवेदन ऑनलाइन किये जायेंगे. आवेदक www.mponline.gov.in, www.mppscdemo.in,   www.mppsc.nic.in, तथा www.mppsc.com, के माध्यम से आवेदन कर सकते है.

परीक्षा एवं आवेदन के लिए शुल्क –

मध्यप्रदेश के मूल निवासी अनुसूचित जाति, अन्य पिछड़ा वर्ग (नॉन क्रीमी लेयर) तथा दिव्यांगजन के लिए – 1250 रुपये.

शेष सभी के लिए – 2500 रुपये.

परीक्षा की प्रक्रिया – कुल दो पेपर होंगे.

पेपर खंड अ – 50 प्रश्न – मध्यप्रदेश का सामान्य ज्ञान – 35 प्रश्न, भारत का सामान्य ज्ञान – 10 प्रश्न, विश्व का सामान्य ज्ञान – 5 प्रश्न.

खंड – ब- कृषि – कुल 100 प्रश्न, कृषि विषय से सम्बंधित.

कुल 150 प्रश्न रहेंगे, प्रत्येक प्रश्न के 3 अंक रहेंगे इसलिय कुल 450 नंबर का प्रश्न पेपर रहेगा.

परीक्षा की अवधि – 3 घंटे. दोनों पेपर एक साथ तीन घंटे में होंगे. दोनों पेपर में कम से कम 40 प्रतिशत अंक आना जरूरी है.

प्रश्नपत्र वस्तुनिष्ठ (बहुविकल्पीय) प्रकार का होगा. प्रत्येक प्रश्न के चार विकल्प ( A,B,C,D) होंगे.

गलत जबाव देने पर नेगेटिव मार्किंग होंगी. प्रत्येक एक गलत उत्तर के लिए 1 अंक काटा जायेगा.

साक्षात्कार – 50 नंबर का साक्षात्कार होंगा. लिखित परीक्षा में पास होने वालों में से रिक्त पदों से तीन गुना आवेदक साक्षात्कार के लिए बुलाये जायेंगे.

हमारी इस वेवसाईट पर हम कृषि से सम्बंधित पोस्ट या ब्लॉग लिखते है. ताकि किसान भाइयो को खेती के बारे में नई-नई जानकारी मिलती रहे.आप सभी से निवेदन है हमारी इस पोस्ट/ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे. पोस्ट के नीचे नीले रंग का सबमिट(Submit) का बटन है, तो उस में अपना नाम व मेल आई.डी. लिखकर व नीले रंग के सबमिट(Submit) बटन पर क्लिक करेंगे तो वेवसाईट को सब्सक्राइब हो जायेगी और जब भी हम कृषि या कृषि की योजनाओं के बारे में नई पोस्ट डालेंगे, तो आपको नोटिफिकेशन के द्वारा जानकारी मिल जायेगी. इस जानकारी को आप अपने दोस्तों में व्हाट्सअप या फेसबुक पर शेयर जरूर करे.  और अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स है उसमे अपना कमेंट, नाम एवं मेल आई.डी. लिखकर, नीले रंग के पोस्ट कमेंट के बटन पर क्लिक करे.

हमारे इस नवीन ब्लॉग को पढ़ने के लिए धन्यवाद THANKS
for Reading Our Latest Blog on
www.kisanhomecart.com,

खेती बाड़ी में ज्यादा जानकारी के लिए जरूर विजिट करे हमारा यूट्यूब चैनल – कृपया डिजिटल खेती Digital Kheti चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे. https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA

New MSP of Crops.-एम.एस.पी. में वृद्धि

न्यूनतम समर्थन मूल्य  (Minimum Support Price) – एम.एस.पी (MSP) –  खरीफ – 2019

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है चन्द्र शेखर जोशी और आप सभी किसान भाईयों का स्वागत है, हमारी इस वेवसाईट – www.kisanhomecart.com में.

न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) –  एम.एस.पी (MSP) – खरीफ – 2019 

यह फसलों का न्यूनतम मूल्य होता है जो की किसान को फसल उत्पादन करने पर मिलना ही चाहिए. यह फसल का वह भाव है जिस पर यह माना गया है की अगर फसल इस मूल्य पर बिकती है तो किसान को 50 प्रतिशत लाभ होता है. ( 50% return over all India weighted average cost of production)

एम.एस.पी (MSP) –  यदि मंडी में फसल का मूल्य न्यूनतम समर्थन मूल्य (एम.एस.पी.) से कम मिलता है तो फसल को वहा की प्रदेश सरकारे खरीदती है, और उनको खरीदी के लिए केंद्र सरकार (भारत सरकार) भी आर्थिक मदद करती है, ताकि किसान को फसल उत्पादन में होने वाले नुकसान से बचाया जा सके.

एम.एस.पी (MSP) – फसल खरीफ मौसम – 2019 

1.A. धान (Paddy ) – कॉमन (common)  

  • नई एम.एस.पी (MSP)–   1815 रुपये / क्विंटल. 
  • पुराने भाव – 1750 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 65 रुपये/क्विंटल.

B. धान (Paddy ) – ग्रेड – ए (Grade-A)

  • नई एम.एस.पी (MSP)–   1835 रुपये / क्विंटल.
  • पुराने भाव – 1770 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 65 रुपये/क्विंटल.

2. A. ज्वार – संकर (Sorghum) (Jowar)- Hybrid

  • नई एम.एस.पी (MSP) —   2550 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव –  2430  रुपये/क्विंटल
  • बढोतरी – 120 रुपये/क्विंटल.

B. ज्वार – मालदंडी ( Sorghum ) (Jowar) – Maldandi

  •  नई एम.एस.पी (MSP) —   2570 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव –  2450  रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 120 रुपये/क्विंटल.

3 . रागी (Ragi) – 

  • नई एम.एस.पी (MSP)— 3150  रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 2897 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 253 रुपये/क्विंटल.

4. बाजरा – Bajra (PearlMillet)  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 2000 रुपये/क्विटल
  • पुराने भाव – 1950रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 50 रुपये/क्विंटल.

5. मक्का (Maize) –

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 1760 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 1700 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 60 रुपये/क्विंटल.

6. अरहर – तुअर – TurArhar (PigeonPea)  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5800 रुपये/क्विटल
  • भाव – 5675 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 125 रुपये/क्विंटल.

7. मूंग – Moong (Green gram)  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 7050 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 6975 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 75 रुपये/क्विंटल.

8. उड़द – urad (Black Gram)  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5700 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 5600 रुपये/क्विंटल.
  •  बढोतरी – 100 रुपये/क्विंटल.

9. मूंगफली (Groundnut with shell) – 

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5090 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 4890 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 200 रुपये/क्विंटल.

10. सूरजमुखी (Sunflower) – 

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5650 रुपये/क्विटल.
  •  पुराने भाव – 5388 रुपये/क्विंटल.
  •  बढोतरी – 262 रुपये/क्विंटल.

11. सोयाबीन (Soybean) – 

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 3710 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 3399 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 311 रुपये/क्विंटल.

12. तिल (Sesamum) –

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 6485 रुपये/क्विटल.
  •  पुराने भाव – 6249 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 236 रुपये/क्विंटल.

13. रामतिल (NigerSeed)  

  •  नई एम.एस.पी (MSP) — 5940 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 5877 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 63 रुपये/क्विंटल.

14. A. कपास–मध्यम रेशे वाली– (Cotton-medium staple)-  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5255 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 5150 रुपये/क्विंटल
  • बढोतरी – 105 रुपये/क्विंटल.

B. कपास – मध्यम रेशे वाली  – (CottonLong staple)

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5550 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 5450 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 100 रुपये/क्विंटल.

अभी मध्यप्रदेश सरकार द्वारा सोयाबीन, मक्का उड़द, अरहर, कपास, तिल, रामतिल आदि खरीफ फसलों को एम.एस.पी (MSP) भाव पर खरीदी की जाएगी. अत मध्यप्रदेश राज्य के सभी किसान भाई पहले अपनी सभी खरीफ फसलों का पंजीयन अपने तहसील, विकासखंड या जिले  में सहकारी समिति या निकट की मंडी में कराये, उसके बाद फसल को मंडी में बेचे. ताकि न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ लिया जा सके. अन्य राज्यों के किसान भाई अपने जिले में कृषि विभाग में संपर्क करे.

हमारी इस वेवसाईट पर हम कृषि से सम्बंधित पोस्ट या ब्लॉग लिखते है. ताकि किसान भाइयो को खेती के बारे में नई-नई जानकारी मिलती रहे. आप सभी से निवेदन है हमारी इस पोस्ट/ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे. पोस्ट के नीचे नीले रंग का सबमिट (Submit) का बटन है, तो उस में अपना नाम व मेल आई.डी. लिखकर, नीले रंग के सबमिट (Submit) बटन पर क्लिक करेंगे तो वेवसाईट को सब्सक्राइब हो जायेगी और जब भी हम कृषि या कृषि की योजनाओं के बारे में नई पोस्ट डालेंगे, तो आपको नोटिफिकेशन के द्वारा जानकारी मिल जायेगी. इस जानकारी को आप अपने दोस्तों में व्हाट्सअप या फेसबुक पर शेयर जरूर करे.  और अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स है उसमे अपना कमेंट, नाम एवं मेल आई.डी. लिखकर, नीले रंग के पोस्ट कमेंट के बटन पर क्लिक करे. हम शीघ्र ही आपके प्रश्न का जबाब दे देंगे.

हमारे इस नवीन ब्लॉग को पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद . Thanks a lot for Reading Our Latest Blog on www.kisanhomecart.com

खेती बाड़ी में ज्यादा जानकारी के लिए जरूर विजिट करे हमारा यूट्यूब चैनल – कृपया डिजिटल खेती – Digital Kheti चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे.
https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA