उचित मूल्य पर बिक्री के लिए धान का पंजीयन

मंडी में धान विक्रय एवं पंजीयन  

  1. धान विक्रय-  जब किसान फसल कटाई के बाद मंडी में बेचता है तो उसको अपनी उपज का कम दाम मिलता है. अत किसान को फसल का सही रेट देने के लिए राज्यों की सरकारे फसल को किसानों से खरीदती है.
  2. धान की खरीदी –अभी धान की फसल कट के आयेंगी तो मंडी में आयेंगी तो सरकार किसानो से उनकी उपज को न्यूनतम समर्थन मूल्य ( एम.एस.पी.) पर खरीदी करेंगी.
  3. धान का समर्थन मूल्य
  • सामान्य(कॉमन) धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य- 1550. रूपये है.
  • एवं ए-ग्रेड धान का मूल्य- 1590 रूपये है.
  • इस मूल्य पर सरकार धान की खरीदी करेंगी.

 4 . इसके अलावा- 

  • किसानों को उतराई, छनाई/सफाई के लिए 15 रुपये प्रति क्विंटल की दर से अतिरिक्त भुगतान करेंगी.
  1. पंजीयन       
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को ऑनलाइन पंजीयन कराना होगा.
  • इसके लिए वो किसी कम्पूटर कियोस्क, सायबर केफे, कम्पूटर जन सुविधा केंद्र पर जाकर पंजीयन कराये है.
  1. कागजात
  • कम्पू-राइज्ड खतोनी जिस पर जोत बही /खाता नंबर अंकित हो.
  • आधार कार्ड पहचान के लिए .
  • बैंक पासबुक की अगले पेज फोटो कॉपी जिस पर खाता नंबर बैंक का नाम आदि लिखा हो .
  • एक स्वय पासपोर्ट साइज़ फोटो..
  1. सावधानी- लेकिन किसान पहले से ही अपनी धान फसल को अच्छी साफ करके  तो उनको मंडी में बेंचने में आसानी रहेंगी. 

8.संपर्क

  • ज्यादा जानकारी के लिए किसान भाई तहसील के क्षेत्रीय/ ब्लॉक मार्केटिंग अधिकारी से संपर्क करे.
  • या टोल फ्री नंबर 18001800150 पर संपर्क करे जो पूर्णतया निशुल्क है.
  1. धान के क्रय की अवधि
  • पश्चिमी उत्तरप्रदेश एव बुन्देलखण्ड में दिनांक 25-09-17 से 31-01-2018 तक.
  • पूर्वी उत्तरप्रदेश में दिनांक 01-11-2017 से 28-02-2018 तक आपकी नजदीकि की मंडी में धान की खरीदी की जाएँगी.
  1. ऑनलाइन पंजीयन के लिए वेबसाईट.

www.fcs.up.nic.in पर पंजीयन करना है.

 

  1. पंजीयन करने में कुल 6 स्टेप है.
  2. पंजीयन प्रारूप- इसमें आवेदन को डाउनलोड करले इसके बाद इसमे जानकारी भरे.
  3. पंजीकरण प्रपत्र-इसपे क्लिक करके ऑनलाइन जानकारी प्रारूप के अनुसार भरे. एव सेव करे.
  4. पंजीकरण ड्राफ्ट- इसमें दुबारा चेक करे की जानकारी सही भरी है-

इसमें पंजीयन नंबर एव मोबाइल नंबर डालेंगे तो ये खुल जायेगा 

  1. पंजीकरण संशोधन- अगर कुछ गलत लिख दिया है तो संसोधन करे.
  2. पंजीकरण लॉक- इसमें पंजीयन हो जायेगा.
  3. पंजीकरण फ़ाइनल प्रिंट- इसमें पंजीयन का फाइनल प्रिंट ले ले.
  4. पंजीयन पत्र धान की फसल बेचने के समय मंडी में ले जाये.

फसल बेचने के बाद समर्थन मूल्य की  दर से किसानो को निश्चित समय के बाद भुगतान किया जायेगा.

  1. यह योजना केवल उत्तरप्रदेश के किसानों के लिए है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *