किसानों के कृषि ऋण

  • किसान  ऋण आसानी से कहा से ले ?

  • किसानों के कृषि ऋण

  • Agriculture Loan

  • लगभग सभी किसानो की कृषि में फसल उत्पादन या पाली हाउस तथा कृषि का कोई व्यवसाय करने आदि के लिए कृषि ऋण की जरूरत रहती है हम सभी जानते है की अधिकांशत किसान भाइयो को ऋण नहीं मिलता है. तो हम यहाँ कुछ तरीके बता रहे है, अगर उनको प्रयोग में लाया जाये तो किसान को कृषि ऋण मिलने में आसानी रहेंगी

  • तब क्या करे की-
  • ऐसी स्थिति में किसान को क्या करे की किसान को आसानी से ऋण मिल जाये. अधिकांशतय ऋण लेने के लिए यह सब तरीके है जिनसे किसान को ऋण आसानी से मिल सकता है.
  • 1. इनकम टैक्स रिटर्न – किसान अपनी आय व्यय का ब्यौरा इनकम टैक्स विभाग को रिटर्न भर के दे, लेकिन अधिकांश किसान ऐसा नहीं करते है, लेकिन अगर रिटर्न भरेंगे तो किसानो को कोई दिक्कत नहीं होगी. इनकम टैक्स रिटर्न भरने से भ्रमित न हो कृषि करने पर किसान को कोई टैक्स नहीं लगता है, उनको केवल आय व्यय का ब्यौरा देना है. जिसको किसान किसी चार्टर्ड अकाउंटेंट (सी.ए.) के माध्यम से भर सकते है.
  • 2. ट्रेनिंग- कभी कभी सरकार की योजनाये चलती है जो पड़े लिखे किसानो को कृषि की नवीन व विकसित तकनीकि के बारे में प्रशिक्षण देकर ऋण दिलवाती है. ऐसा करके भी पड़े लिखे किसान ऋण ले सकते है.
  • अगर किसान कोई बिज़नेस स्थापित करे व उसको कुछ साल तक चलाये व उसका लगातार इनकम टैक्स रिटर्न भरते है तो बिज़नेस के विस्तार के लिए किसान को आसानी से लोन मिल सकता है.
  • 3. बंधक- जमीन को बंधक रखके भी किसान बैंक से ऋण ले सकते है.
  • 4. सरकार- कभी कभी सरकार भी ऐसी योजना लेकर आती है जिसमे किसानो को ऋण मिल जाता है..
  • 5. गोल्ड लोन
  • घर के सोने चाँदी के जवाहरात/गहने रखकर भी किसान कृषि ऋण ले सकते है.
  • इसमें किसानो को लोन पर ब्याज दर सामान्य लोगो के ऋण लेने की तुलना में बहुत कम रहती है.
  • लगभग 7% के आसपास.
  • ऐसे लोन लेना बहुत ही आसान है.
  • बैंक वाले जौहरी से गहनों की जाँच करवाते है और एक ही दिन में किसान को ऋण मिल जाता है.
  • ऋण के लिए गहनों का बिल भी होना जरूरी नहीं है
  • 6. किसान क्रेडिट कार्ड
  • यह किसानो को बड़ी ही आसानी से मिलने वाला कृषि ऋण है.
  • यह किसानो को किसी भी जिला सहकारी बैंक, राष्ट्रीयकृत बैंक व प्राइवेट बैंक से किसानो को मिलता है.
  • जिला सहकारी बैंक से नगद पैसा मिलता है व खाद बीज आदि भी मिलता है.
  • ऋण कितना  मिलेगा यह जमीन का रकवा, सिंचित/असिंचित, फसल के प्रकार आदि पर निर्भर होता है
  • ब्याज- यह अलग अलग राज्य में अलग अलग है
  • ब्याज दर इसमें किसानो को कम ही रहती है.
  • 7%(लगभग सभी राज्यों में )
  • 3% ( समय पर भरने पर किसानो को 4 % की छूट मिलती है)
  • 0% ( कुछ राज्यों में जैसे मध्यप्रदेश में जिला सहकारी बैंक से किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने पर)
  • किसान क्रेडिट कार्ड केवल बही किसान ले सकते है जिनके नाम पर जमीन है.
  • ऋण का भुगतान साल में दो बार करना पड़ता है.
  • भुगतान करने के कुछ समय बाद ही पैसा वापिस निकल सकते है.
  • यदि किसान ऋण का सही लेन देन करता हा व ऋण का भुगतान समय पर करते है तो उनको ऋण ज्यादा मिलता है.
  • इसके के लिए किसान को अपने नजदीकि की बैंक में जाकर सम्पर्क करना है.
  • बैंक आसानी से किसान क्रेडिट कार्ड बना देती है.

 

 

 

 

 

 

 

3 thoughts on “किसानों के कृषि ऋण”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *