किसान क्रेडिट कार्ड

    इसमें बैंक किसानो को फसल उगाने के लिए ऋण देती है.

  • यह ऋण किसानो को 6 महीने के लिए दिया जाता है.
  • ताकि किसानो को फसल उगाने के लिए पैसे के कमी न हो.
  • किसान कोई सी भी फसल उगाने के लिए किसान क्रेडिट कार्ड द्यारा ऋण ले सकते है.
  • किसान के लिए उसकी नजदीक की बैंक की शाखा से ही किसान क्रेडिट कार्ड बनता है
  • यह एक प्रकार का किसान को ऋण है जिसको किसान क्रेडिट कार्ड का नाम दिया गया है.
  • इसको किसान सीधे बैंक से ले सकता है किसी मध्यस्थ की जरूरत नहीं है.

किसान क्रेडिट कार्ड कौन ले सकता है

  • किसान क्रेडिट कार्ड किसानों को ही मिलता है.
  • इसके लिए किसान के नाम खेती होनी चाहिए.
  • किसान के पास खाता खसरा पावती किसान के नाम होनी चाहिए.
  • बैंक में खाता होने चाहिए.
  • किसान के पास अन्य बैंक से ऋण नहीं होना चाहिए.

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कागजात

  • किसान का खाता खसरा नक़ल.
  • पहचान पत्र.
  • बैंक में खाता.
  • अन्य बेंको से नों-डूज.
  • फोटो.
  • पटवारी द्यारा फसल का प्रमाण पत्र

किसान क्रेडिट कार्ड की लिमिट

  • किसानो को इस कार्ड के द्यारा जो ऋण दिया जाता है उसकी लिमिट(सीमा) का निर्धारण निम्न प्रकार किया जाता है-
  • खेती की जमीन कितनी है
  • फसल का प्रकार- सामान्य फसल व व्यापारिक फसल.
  • सिंचित व असिंचित फसल.
  • साल में कितनी फसले बोते है, आदि.

कितना ऋण किसान को मिलता है

  • किसान क्रेडिट कार्ड में ऋण की सीमा- यदि किसान व्यापारिक व सिंचित फसल बोते है, तथा किसान के पास ज्यादा खेती की जमीन है तो ज्यादा ऋण किसान को मिलता है.
  • साधारण रूप से मान सकते है की 2 हेक्टर सिंचित व सामान्य फसल लगाने पर किसान को 1 लाख तक का ऋण किसान क्रेडिट कार्ड पर मिल जाता है.

      ऋण का भुगतान

  • किसान क्रेडिट कार्ड के ऋण का भुगतान साल में दो बार 6-6 महीने में करना पड़ता है.
  • ऋण का भुगतान सितम्बर और  फरवरी-मार्च में करना पड़ता है.
  • तथा भुगतान करने के तुरंत बाद अगली फसल के लिए किसान वापिस ऋण ले सकते है.

किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज

  • प्राथमिक कृषि सहकारी समितिऑ जो जिला सहकारी बेंको से लिंक रहती है उनमे ब्याज का प्रतिशत कम रहता है मध्यप्रदेश में यह शून्य है.
  • तथा जो किसान क्रेडिट कार्ड राष्ट्रीयकृत व प्राइवेट बेंको द्यारा दिया जाता है उसमे 3% ब्याज किसान को देना पड़ता है.

जिला सहकारी बैंको का किसान क्रेडिट कार्ड

  • इन बैंको किसानो  को लगभग 30% राशि का कृषि आदान-खाद बीज एवं कीटनाशी आदि दिए जाते है.
  • इस आदान का भी भुगतान 6 महीने के बाद करना है.
  • व लगभग 70% राशि किसानो को नगद दी जाती है.
    राष्ट्रीयकृत बैंको का किसान क्रेडिट कार्ड 
    इसमें किसानो को केवल राशि दे जाती है.
    ये बैंक किसानो को कृषि आदान नहीं देती है.
    किसान क्रेडिट कार्ड ऋण का समय पर भुगतान करने पर 3-4 वर्ष की रिकार्ड अच्छा रहने पर ऋण की सीमा भी बड़ा दी जाती है.

किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ

  • एक बार किसान क्रेडिट कार्ड किसान का बन जाने पर किसान को हर 6 माह में फसल उगाने के लिए आसानी से पैसे मिल जाते है.
  • किसान क्रेडिट कार्ड ऋण पर बैंक की ब्याज दर बहुत कम होती है.
  • किसान को किसी साहूकार से ज्यादा ब्याज पर पैसे लेने की आवश्यकता नहीं पड़ती है.
  • ऋण का भुगतान करने के लिए किसान को पर्याप्त समय मिलता है.

किसान क्रेडिट कार्ड का भुगतान न करने पर 

  • बैंक द्यारा दिए गए समय पर किसान क्रेडिट कार्ड के ऋण का भुगतान न करने पर ज्यादा बैंक ब्याज किसान से लिया जाता है.
  • इसलिए किसान को ऋण का भुगतान समय पर करना चाहिए.
  • ज्यादा जानकारी या किसान क्रेडिट कार्ड बनबाने के लिए किसान भाई नजदीक के बैंक में संपर्क करे.
  • इस तरह किसान भाई बैंक से फसल उगने के लिए लोन ले सकते है, जिसको लेना बहुत ही आसान है.

धन्यवाद.

Please Subscribe us on

https://youtube.com/digitalkheti.

किसान क्रेडिट कार्ड- किसान क्रेडिट कार्ड की जानकारी के लिए गूगल या यू ट्यूब पर खोजे ——डिजिटल खेती ——-Digital Kheti———

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *