गेंहू फसल में खरपतवार का नियंत्रण

    • गेंहू के खरपतवारनाशी ,
    • गेंहू में खरपतवार का नियंत्रण,
    • गेंहू फसल में खरपतवार एक मुख्य समस्या है, इसके नियंत्रण के लिए बुवाई के बाद खडी फसल में खरपतवारनाशी का स्प्रे किया जाता है.
    • खरपतवारनाशी का नाम – क्लोडिनाफोप प्रोपरजिल 15% + मेटसल्फूरोन मैथिल 1 % डवल्यू.पी.
    • Clodinafop Propargyl 15% + Metsulfuron Methyl 1% WP.

  • इसका प्रयोग खडी फसल में बुवाई के 20-25 दिन बाद किया जाता है.
  • यह सकरी पत्ती व चौड़ी पत्ती दोनों प्रकार के खरपतवारों को नष्ट करता है.
  • खरपतवारनाशी – इसके डिब्बे में दो पैकिट  आती है एक 160 ग्राम दवाई (पावडर रूप में)का और दूसरा 500 मिली. (द्रव रूप में)का पैकेट जो खरपतवारनाशी की कार्य करने की क्षमता को बढाता है.
  • घोल तैयार करना – इसके लिए एक बाल्टी में 10 लीटर  या 10 ग्लास पानी लीजिये. इसमें पहले 160 ग्राम दवाई मिलाये इसके बाद 500  मिली. के पैकेट को मिलाये व लकड़ी आदि की सहायता से अच्छी तरह से घोल ले.
  • एक पम्प में एक लीटर या एक ग्लास दवाई व पम्प को पानी से भरे व स्प्रे करे.
  • यह दवाई एक एकड़ के लिए है इसलिए एक एकड़ में 10 पम्प दवाई का स्प्रे करे.
  • इसकी कीमत 550 रुपये रहती है एक एकड़ के लिए.
  • सावधानी –
  • इसके प्रयोग के समय खेत में नमी होना आवश्यक है की अन्यथा यह अच्छी तरह काम नहीं करती है.
  • दवाई के प्रयोग करने के बाद पम्प को अच्छी तरह साफ करके रखे.
  • ज्यादा जानकारी के लिए खोजे यूट्यूब चैनल – डिजिटल खेती —Digital Kheti—
  • https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *