कृषि यंत्र केंद्र – कस्टम हायरिंग सेंटर

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है, हार्दिक अभिनन्दन है हमारी इस वेवसाईट www.kisanhomecart.com में. यहाँ पर हम किसान भाईयों को खेती से सम्बंधित योजनाओं आदि के बारे में जानकारी प्रदान करते है.

आज हम आपकों बताने वाले है कस्टम हायरिंग सेंटर के बारे में –

जो लोग थोड़ा पढ़े लिखे है एवं खेती के साथ गाँव में ही अपना खेती से ही जुड़ा हुआ व्यवसाय करना चाहते है वो लोग गाँव में ही रहकर कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित कर सकते है और स्वयं का रोजगार स्थापित कर सकते है.

इसमें गाँव में खेती में काम आने वाले कृषि यंत्रों का सेंटर स्थापित किया जाता है, जिसमें ट्रेक्टर, ट्राली, थ्रेशर, कल्टीवेटर, प्लाऊ रोटावेटर, हेरों, सीडड्रिल या खेती में काम आने वाले अन्य यंत्र रखे जाते है. और इन कृषि यंत्रो को गाँव के अन्य किसानों कों खेती करने के लिए किराये पर दिया जाता है. जिससे कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित करने वाले को आय प्राप्त होती है व गाँव के अन्य किसानों को आसानी से कृषि यंत्र मिल जाते है.

ऐसे कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित करने के लिए आवेदन आमंत्रित किये जा रहे है.

आवेदन के लिए योग्यता – आवेदक की उम्र 18 वर्ष से लेकर 40 वर्ष के मध्य होनी चाहिये. आवेदक कम से कम 12 वी पास होना चाहिए. कृषि (Agriculture), कृषि अभियांत्रिकी (agriculture engineering) व उधानिकी (Horticulture) से स्नातक (graduate) भी आवेदन कर सकते है. यदि ये लोग आवेदन करते है तो इनको प्राथमिकता दी जाएगी.10 लाख से लेकर 25 लाख की लागत तक का कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित कर सकते है.अनुदान अधिकतम 10 लाख रुपये तक का ही मिलेगा.सामान्य वर्ग के आवेदक को 40% व अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति व महिला आवेदक को 50 % अनुदान मिलेगा.

कृषि यंत्रो की इकाई – कस्टम हायरिंग सेंटर में कृषि यंत्रो की तीन इकाई बनाई गई है जिनमे से इकाई 01 के यंत्र अपने कस्टम हायरिंग सेंटर में रखना अनिवार्य है.

इकाई – 01- ट्रेक्टर , पलाऊ , रोटावेटर, कल्टीवेटर या हेरों, सीडड्रिल, थ्रेशर, रेज्ड बेड प्लान्टर या राइस ट्रांसप्लान्टर.

इकाई – 02 – ग्रेडिंग प्लांट ( बीज के लिए )

इकाई -03 ऐच्छिक कृषि यंत्र – अपनी इच्छा एवं स्थानीय आवश्यकताओ पर आधारित कृषि यंत्र.

आवेदन – आवेदन की तारीख 5 सितम्बर से लेकर 19 सितम्बर 2019 तक है इस अवधि के मध्य आवेदन किये जा सकते है.

आवेदन करने के लिए अ.जा., अ.ज.जा. व महिला आवेदक को दो हजार व सामान्य जातिवर्ग के आवेदक को 5 हजार का ड्राफ्ट बैंक से बनबाना है.

आवेदन mponline (एम.पी.ऑनलाइन ) के माध्यम से करना है.

व 19 से 23 सितम्बर के मध्य आवेदन, बैंक ड्राफ्ट, पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र या ऋण पुस्तिका, व शेक्षणिक योग्यता की अंकसूची, अपने जिले में कृषि अभियांत्रिकी के कार्यालय में भौतिक सत्यापन कराना है.

मध्य प्रदेश के प्रत्येक जिले में पांच सेंटर स्थापित करना है कुल 255 सेंटर स्थापित करने का लक्ष्य है.

इस तरह से अपने गाँव में कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित कर सकते है.

यह योजना केवल मध्य प्रदेश के लोगो के लिए है. अन्य राज्यों के किसान अपने जिले में कृषि (agriculture) या कृषि अभियांत्रिकी (agriculture Engineering) के कार्यालय में संपर्क कर सकते है. इस तरह की योजना सभी राज्यों में चलती है. आवेदन की तारीख अलग अलग रहती है.

दोस्तों इस जानकारी को आप अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे व आप हमारी इस वेवसाईट को आप सब्सक्राइब भी जरूर करे ताकि आपको खेती के बारे में नई नई जानकारी मिलती रहे.

धन्यवाद

www.kisanhomecart.com