Agriculture work during Lock Down. Covid – 19, नोवेल कोरोना वायरस लॉकडाउन में कृषि कार्यों के लिए दिशा निर्देश

नोवेल कोरोना वायरस ( COVID – 19 ) के लिए लॉकडाउन की स्थिति में रबी फसल कटाई, खरीफ 2020 के लिए खाद, बीज व  दवाई आदि की उपलब्धता व कृषि क्षेत्र में खाद बीज दवाई के उत्पादन, वितरण व परिवहन के लिए दिशा निर्देश –

  1. बीज, उर्वरक एवं कीटनाशक दवाओं का उत्पादन, पैकेजिंग, परिवहन व वितरण करने की अनुमति/छूट सुबह 9 बजे से सांय 4 बजे तक रखी गई है.
  2. बीज, उर्वरक एवं पेस्टीसाइड दवाओं के विक्रय के लिए के विक्रेता – डीलर व होलसेलर के लिए अपनी दुकान सुबह 07 बजे से 11 बजे तक खोल सकते है. केवल 4 घंटे अपनी दुकान खोल सकते है.
  3. रेलवे रैक द्वारा उर्वरकों की आपूर्ति हेतु सड़क मार्ग से परिवहन द्वारा भण्डारण व विक्रय केंद्र तक पहुचाने की छूट है.
  4. बीज उत्पादन करने के लिए बीज की ग्रेडिंग व प्रोसेसिंग सेंटर को व बीज के भंडारण व परिवहन के लिए सुबह 10 बजे से शाम 04 बजे तक प्रोसेसिंग यूनिट आदि को खोलने की छूट है.
  5. रबी फसलों में कटाई में प्रयुक्त होने वाले हार्वेस्टर, ट्रेक्टर, कस्टम हायरिंग सेंटर व अन्य कृषि यंत्रो के संचालन, परिवहन, व कटाई आदि की छूट है. साथ ही यंत्रो के रिपेयरिंग के लिए गेराज, दुकान सर्विस सेंटर को खोलने की अनुमति है.
  6. फसल कटाई के दौरान कोरोना वायरस से बचाव के लिए आवश्यक उपायों का पालन करना जरूरी है.
  7. अनुमति के दौरान 2 से 5 व्यक्तियों से ज्यादा व्यक्ति इकठ्ठा ना हो.
  8. किसी भी कृषि कार्य के दौरान प्रत्येक व्यक्ति कम से कम 6 फीट की दूरी रखे.
  9. मास्क सेनेटाईजर का प्रयोग करना अनिवार्य होगा.
  10. जिस व्यक्ति को सर्दी, खांसी, जुकाम व बुखार आदि है  उस ब्यक्ति कोई भी कार्य न लिया जाये.
  11. फसल कटाई मशीन संचालक सम्बंधित ग्राम सचिव व रोजगार सहायक को आने-जाने की सूचना जरूर दे.

यह कृषि कार्यों के लिए भारत सरकार व राज्य सरकार के दिशा निर्देश है.

ज्यादा जानकरी व अपने जिले व राज्य में दिशा निर्देशों के लिए अपने तहसील, विकासखंड या जिले में कृषि अधिकारी या अपने जिले में कलेक्टर कार्यालय में संपर्क करे.

इन निर्देशों के साथ समय समय पर जिला कलेक्टर व अन्य सम्बंधित विभाग द्वारा भी दिशा निर्देश भी जारी किये जाते है अत उनका भी पालन करना अति आवश्यक है.

वायरस से वचाव के लिए अति जरूरी न हो तो घर से बिल्कुल न निकले.

घवराये नहीं दिए गए नियमों का पालन करे.

……………………..धन्यवाद………………………..

Minimum Support Price-Kharif Crops.

Minimum Support Price 2019 –

MSP Kharif -2019.

This is the minimum rate of crops, which must be obtained by farmer at the time of sale of agriculture produce or crop in mandi.

If farmer sale his crop at minimum support price he gets 50% profit (50% return over all India weighted average cost of production) on sale of his crop in mandi.

MSP – State governments purchase crop of farmers if rate of crop is lower than minimum support price.

MSP -2019– Kharif Season Crops

1. A. Paddy – common-

  • New MSP – 1815 Rs/Quintal.
  • Old MSP – 1750 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 65 Rs. /Quintal.

B. Paddy – Grade – A

  • New MSP – 1835 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 1770 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 65 Rs. /Quintal.

2. A.  Sorghum (Jowar) Hybrid-

  • New MSP – 2550 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 2430 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 120 Rs. /Quintal.

B. Sorghum (Jowar) – Malandai.

  • New MSP – 2570 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 2450 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 120 Rs. /Quintal.

3. Ragi – 

  • New MSP – 3150 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 2897 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 253 Rs. /Quintal.

4. Bajra (Pearl Millet)  

  • New MSP – 2000 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 1950 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 50 Rs. /Quintal.

5. Maize

  • New MSP – 1760 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 1700 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 60 Rs. /Quintal.

6. Tur – Arhar (Pigeon Pea) –

  • New MSP – 5800 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5675 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 125 Rs. /Quintal.

7. Moong (Green gram)  

  • New MSP – 7050 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 6975 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 75 Rs. /Quintal.

8. – Urad (Black Gram)  

  • New MSP – 5700 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5600 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 100 Rs. /Quintal.

9. Groundnut with shell – 

  • New MSP – 5090 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 4890 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 200 Rs. /Quintal.

10. Sunflower – 

  • New MSP – 5650 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5388 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 262 Rs. /Quintal.

11. Soybean – 

  • New MSP – 3710 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 3399 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 311 Rs. /Quintal.

12. Sesamum

  • New MSP – 6485 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 6249 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 236 Rs. /Quintal.

13. Ramtil (Niger Seed)  

  • New MSP – 5940 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5877 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 63 Rs. /Quintal.

14. A. Cottonmedium staple –  

  • New MSP – 5255 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5150 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 105 Rs. /Quintal.

B. Cotton – Long staple

  • New MSP – 5550 Rs. /Quintal.
  • Old MSP – 5450 Rs. /Quintal.
  • increment in MSP – 100 Rs. /Quintal.

Now Madhya Pradesh state government will purchase Soybean, Maize, Black Gram (Udad), Arhar (Pigeon Pea), Cotton, Til (Sesamum), Ramtil (Niger seed) on MSP.

So, Farmers of Madhya Pradesh State, first register their Kharif crops in cooperative Societies, Mandi near of you in your district, Tehsil and Block, then sale the crops in Mandi.

So that benefit of minimum support price can be taken.

Farmers of other state must contact in agriculture department of your District.

Vacancy in Kribhco, कृभको में भर्ती

कृभको में फील्ड रिप्रेजेन्टेटिव (Field Representative), (ट्रेनी) (trainee) की भर्ती.

कृभको का पूरा नाम कृषक भारती कोआपरेटिव लिमिटेड है.

KRIBHCO – Krishak Bharti Cooperative Ltd.

कृभको भारत के कई राज्यों में खाद का उत्पादन व बेचने का कार्य करती है. इस सहकारी संस्था को भारत के बिभिन्न राज्यों- हरियाणा, पंजाब, उत्तरप्रदेश, बिहार,पश्चिम बंगाल,आन्ध्रप्रदेश, छत्तीसगड, तेलंगाना,गुजरात,राजस्थान,व उत्तराखंड में खाद की मार्केटिंग के लिए ट्रेनी की भर्ती करनी है.

इसमें ट्रेनी के रूप में कार्य करने के लिए 34000 रुपये की सैलरी दी जाएगी व इसके साथ ही एच.आर.ए., पी.एफ., मेडिकल सुविधा, व जीवन बीमा की सुविधा भी दी जाएगी. ट्रेनिंग समाप्त होने के बाद ट्रेनी (फील्ड रिप्रेजेन्टेटिव) को स्थायी पोस्ट पर पदौन्नत कर दिया जायेगा, जिसमे उनको 34000-76000 रुपये का पे स्केल मिलेगा व इसके साथ ही स्थायी सरकारी अधिकारी के तरह अन्य सुविधाये भी दी जाएँगी.

इस पद पर आवेदन करने के लिए योग्यता –

आवेदक – बी.एस.सी. कृषि. ,कम से कम 65% के साथ या इसके सामान सी.जी..पी.ए. होना चाहिए

आयुसीमा – आवेदक की उम्र अधिकतम 23 साल होनी चाहिए. 23 साल से बड़े उम्र के आवेदक, आवेदन नहीं कर सकते है. आवेदक का जन्म 01.04.1996 से बाद का होना चाहिए.

चयन प्रक्रिया – इसमें कम्पूटर द्वारा लिखित परीक्षा ली जाएगी व  इसके बाद साक्षात्कार लिया जायेगा.

आवेदन की अंतिम दिनांक – आवेदन दिनांक 28.10.2019 से 17.11.2019 तक कर सकते है.

कम्पुटर आधारित परीक्षा की दिनांक – 01/12/2019 को आयोजित की जाएगी.

यह परीक्षा भारत के पांच जिलों – अहमदाबाद, हैदराबाद,रांची, भोपाल व नोइडा में आयोजित की जाएगी, अभ्यर्थी इनमे से कोई भी स्थान का चुनाव कर सकते है.

आवेदन की प्रक्रिया –

आवेदन ऑनलाइन किये जायेंगे.

आवेदन करने के लिए इनकी वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना है.

www.kribhco.net

इस वेबसाइट पर जाकर “करियर” सेक्शन (Career) पर जाना है और वहा पर क्लिक करके आवेदन करना है.

आवेदन के लिए आपके पास एक मेल आईडी होना चाहिए.

आवेदन की पासपोर्ट साइज़ फोटो व सिग्नेचर की स्कैन कॉपी भी अपलोड करनी है.

आवेदन के समय मोबाइल साथ में रखे उस पर पर ओ.टी.पी. आयेगा.

आवेदन के तीन भाग है – 1. Sign up ( पहले साइनअप ) करना है.

2. पंजीयन फॉर्म – Registration Form –  यह फॉर्म भरना है.

3. पेमेंट का भुगतान – आवेदन की फीस ऑनलाइन भरनी है.

आवेदन की फीस 450 रुपये है.

हमारी इस वेवसाईट पर हम कृषि से सम्बंधित पोस्ट या ब्लॉग लिखते है. ताकि किसान भाइयो को खेती के बारे में नई-नई जानकारी मिलती रहे.

आप सभी से निवेदन है हमारी इस पोस्ट/ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे. पोस्ट के नीचे सबमिट(Submit) का बटन है, तो उस में अपना नाम व मेल आई.डी. लिखकर सबमिट(Submit) बटन पर क्लिक करेंगे तो वेवसाईट को सब्सक्राइब हो जायेगी

इस जानकारी को आप अपने दोस्तों में व्हाट्सअप या फेसबुक पर शेयर जरूर करे.

अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स है उसमे अपना कमेंट, नाम एवं मेल आई.डी. लिखकर, “पोस्ट कमेंट” के बटन पर क्लिक करे.

हमारे इस नवीन ब्लॉग को पढ़ने के लिए धन्यवाद

THANKS
for Reading Our Latest Blog on
www.kisanhomecart.com,

खेती बाड़ी में ज्यादा जानकारी के लिए जरूर विजिट करे हमारा यूट्यूब चैनल -डिजिटल खेती कृपया डिजिटल खेती Digital Kheti चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे. https://www.youtube.com/Digitalkheti

PM-Kisan Samman Nidhi- पी.एम.किसान सम्मान निधि

PM-Kisan Samman Nidhi- पी.एम.किसान सम्मान निधि

प्रधानमन्त्री किसान सम्मान निधि –

इस योजना के अन्तरगत किसानों को 6000 रुपये प्रति साल के हिसाब से आर्थिक सहायता दी जाती है.

यह पैसा साल में तीन वार दिया जाता है. प्रत्येक क़िस्त में 2000 रुपये दिए जाते है.

योजना के पैसे सीधे किसान के खाते में आते है.

यह योजना 01.12.2018 से शुरू हुई थी.

इस योजना केवल उन किसानों के लिए है जिनके नाम पर जमीन है.

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को अपना आधार कार्ड, राशन कार्ड, बैंक पासबुक की फोटोकॉपी अपनी तहसील में पटवारी, ग्राम पंचायत सचिव या ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी को देनी है. और अपना पंजीयन कराना है.

इसके बाद किसानों को इसका लाभ मिलना शुरू हो जायेगा.

खाता खसरा या ऋण पुस्तिका में जितने भी लोगों का नाम है जैसे सयुक्त खाते में जितने भी नाम है, उन सभी के कागजात देने है. केवल उन लडकियों को छोड़कर जिनकी शादी हो गई है. या मृत व्यक्ति को छोड़कर.

पहले यह योजना लघु (1-2 हेक्टर) व सीमान्त (1 हेक्टर से कम) किसानों के लिए ही थी. लेकिन बाद में सभी किसानों के लिए कर दी गई है.

इस योजना का लाभ इन किसानों को नहीं मिलेगा जो –

लोकसभा या राज्यसभा या विधान सभा के सदस्य है.

जो नगरपालिका या जिला पंचायत के अध्यक्ष है .

केंद्र या राज्य सरकार के अंतर्गत नौकरी करने वाले. ( चपरासी व मल्टी टास्किंग स्टाफ को छोड़कर – ये लोग आवेदन कर सकते है.

सभी अधिकारी व कर्मचारी जो इनकम टेक्स (आयकर) देते है.

किसान भाई चाहे तो खुद भी पंजीयन कर सकते है.

इसके लिए उनको www.pmkisan.gov.in पर जाना है

उसके बाद इस वेबसाइट पर Farmer Corner (फार्मर कॉर्नर) दिखेगा उस पर क्लिक करना है जिसमे चार विकल्प आएंगे.

सबसे पहले New Farmer Registration का विकल्प आयेगा जिस पर क्लिक करके किसान भाई अपना पंजीयन का सकते है. इसमें किसान को समस्त पूछी गई जानकरी भरनी बैंक खाते के विवरण के साथ जिस खाते में किसान भाई क़िस्त डलवाना चाहते है.

जिन किसानों के आधार नंबर में कोई गलती हो गई है पंजीयन के समय वो आधार कार्ड के गलती को सुधार सकते है. उनको वेबसाइट के फार्मर कार्नर (Farmer Corner) के दुसरे नंबर के विकल्प – Edit Aadhar Failure Record पर क्लिक करना है और आधार नंबर डालकर search (खोजना) करना है. और आधार नंबर में गलती को सुधारना है.

Beneficiary Status – अगर किसान जानना चाहता है की उसका नाम सम्मान निधि में जुड़ा है की नहीं और उसकी क़िस्त मिली है की नहीं उसके लिए उसको वेबसाइट के फार्मर कार्नर में तीसरे नंबर के विकल्प – Beneficiary Status पर क्लिक करना है और आधार नंबर या बैंक खाता नंबर या मोबाइल नंबर डालकर अपना स्टेटस (स्थिति) चेक कर सकते है.

Beneficiary List – अगर किसान जानना चाहते है की उनके गाँव में किस-किस किसान या कुल कितने किसानो का पी.एम. सम्मान निधि में नाम है तो वो इस आप्शन पर क्लिक करके जान सकते है. इसमें किसानों को अपना राज्य जिला, उपविकास खंड (Block) व गाँव चुनना है और Get Report पर क्लिक करेंगे तो पुरे गाँव के किसानों की लिस्ट आ जाएगी.

इस तरह से किसान भाई इस योजना के बारे में पूरी जानकरी ले सकते है और उनकों योजना का लाभ नहीं मिल रहा है या कोई दिक्कत आ रही है तो वो इस वेबसाइट पर जाकर उस समस्या का समाधान कर सकते है.

यह केंद सरकार – भारत सरकार की योजना है जिसमे पूरा पैसे केंद्र सरकार द्वारा किसानों को दिए जाते है. राज्यों के सरकारों को केवल किसानों के पंजीयन करने के जिम्मेदारी दी गई है.

हमारी इस वेवसाईट पर हम कृषि से सम्बंधित पोस्ट या ब्लॉग लिखते है. ताकि किसान भाइयो को खेती के बारे में नई-नई जानकारी मिलती रहे.

आप सभी से निवेदन है हमारी इस पोस्ट/ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे. पोस्ट के नीचे नीले रंग का सबमिट(Submit) का बटन है, तो उस में अपना नाम व मेल आई.डी. लिखकर व नीले रंग के सबमिट(Submit) बटन पर क्लिक करेंगे तो वेवसाईट को सब्सक्राइब हो जायेगी

जब भी हम कृषि या कृषि की योजनाओं के बारे में नई पोस्ट डालेंगे, तो आपको नोटिफिकेशन के द्वारा जानकारी मिल जायेगी. इस जानकारी को आप अपने दोस्तों में व्हाट्सअप या फेसबुक पर शेयर जरूर करे. और अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स है उसमे अपना कमेंट, नाम एवं मेल आई.डी. लिखकर, नीले रंग के पोस्ट कमेंट के बटन पर क्लिक करे.

हमारे इस नवीन ब्लॉग को पढ़ने के लिए धन्यवाद THANKS
for Reading Our Latest Blog on
www.kisanhomecart.com,

खेती बाड़ी में ज्यादा जानकारी के लिए जरूर विजिट करे हमारा यूट्यूब चैनल – कृपया डिजिटल खेती Digital Kheti चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे. https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA

New MSP of Crops.-एम.एस.पी. में वृद्धि

न्यूनतम समर्थन मूल्य  (Minimum Support Price) – एम.एस.पी (MSP) –  खरीफ – 2019

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है चन्द्र शेखर जोशी और आप सभी किसान भाईयों का स्वागत है, हमारी इस वेवसाईट – www.kisanhomecart.com में.

न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) –  एम.एस.पी (MSP) – खरीफ – 2019 

यह फसलों का न्यूनतम मूल्य होता है जो की किसान को फसल उत्पादन करने पर मिलना ही चाहिए. यह फसल का वह भाव है जिस पर यह माना गया है की अगर फसल इस मूल्य पर बिकती है तो किसान को 50 प्रतिशत लाभ होता है. ( 50% return over all India weighted average cost of production)

एम.एस.पी (MSP) –  यदि मंडी में फसल का मूल्य न्यूनतम समर्थन मूल्य (एम.एस.पी.) से कम मिलता है तो फसल को वहा की प्रदेश सरकारे खरीदती है, और उनको खरीदी के लिए केंद्र सरकार (भारत सरकार) भी आर्थिक मदद करती है, ताकि किसान को फसल उत्पादन में होने वाले नुकसान से बचाया जा सके.

एम.एस.पी (MSP) – फसल खरीफ मौसम – 2019 

1.A. धान (Paddy ) – कॉमन (common)  

  • नई एम.एस.पी (MSP)–   1815 रुपये / क्विंटल. 
  • पुराने भाव – 1750 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 65 रुपये/क्विंटल.

B. धान (Paddy ) – ग्रेड – ए (Grade-A)

  • नई एम.एस.पी (MSP)–   1835 रुपये / क्विंटल.
  • पुराने भाव – 1770 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 65 रुपये/क्विंटल.

2. A. ज्वार – संकर (Sorghum) (Jowar)- Hybrid

  • नई एम.एस.पी (MSP) —   2550 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव –  2430  रुपये/क्विंटल
  • बढोतरी – 120 रुपये/क्विंटल.

B. ज्वार – मालदंडी ( Sorghum ) (Jowar) – Maldandi

  •  नई एम.एस.पी (MSP) —   2570 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव –  2450  रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 120 रुपये/क्विंटल.

3 . रागी (Ragi) – 

  • नई एम.एस.पी (MSP)— 3150  रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 2897 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 253 रुपये/क्विंटल.

4. बाजरा – Bajra (PearlMillet)  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 2000 रुपये/क्विटल
  • पुराने भाव – 1950रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 50 रुपये/क्विंटल.

5. मक्का (Maize) –

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 1760 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 1700 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 60 रुपये/क्विंटल.

6. अरहर – तुअर – TurArhar (PigeonPea)  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5800 रुपये/क्विटल
  • भाव – 5675 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 125 रुपये/क्विंटल.

7. मूंग – Moong (Green gram)  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 7050 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 6975 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 75 रुपये/क्विंटल.

8. उड़द – urad (Black Gram)  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5700 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 5600 रुपये/क्विंटल.
  •  बढोतरी – 100 रुपये/क्विंटल.

9. मूंगफली (Groundnut with shell) – 

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5090 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 4890 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 200 रुपये/क्विंटल.

10. सूरजमुखी (Sunflower) – 

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5650 रुपये/क्विटल.
  •  पुराने भाव – 5388 रुपये/क्विंटल.
  •  बढोतरी – 262 रुपये/क्विंटल.

11. सोयाबीन (Soybean) – 

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 3710 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 3399 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 311 रुपये/क्विंटल.

12. तिल (Sesamum) –

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 6485 रुपये/क्विटल.
  •  पुराने भाव – 6249 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 236 रुपये/क्विंटल.

13. रामतिल (NigerSeed)  

  •  नई एम.एस.पी (MSP) — 5940 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 5877 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 63 रुपये/क्विंटल.

14. A. कपास–मध्यम रेशे वाली– (Cotton-medium staple)-  

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5255 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 5150 रुपये/क्विंटल
  • बढोतरी – 105 रुपये/क्विंटल.

B. कपास – मध्यम रेशे वाली  – (CottonLong staple)

  • नई एम.एस.पी (MSP) — 5550 रुपये/क्विटल.
  • पुराने भाव – 5450 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 100 रुपये/क्विंटल.

अभी मध्यप्रदेश सरकार द्वारा सोयाबीन, मक्का उड़द, अरहर, कपास, तिल, रामतिल आदि खरीफ फसलों को एम.एस.पी (MSP) भाव पर खरीदी की जाएगी. अत मध्यप्रदेश राज्य के सभी किसान भाई पहले अपनी सभी खरीफ फसलों का पंजीयन अपने तहसील, विकासखंड या जिले  में सहकारी समिति या निकट की मंडी में कराये, उसके बाद फसल को मंडी में बेचे. ताकि न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ लिया जा सके. अन्य राज्यों के किसान भाई अपने जिले में कृषि विभाग में संपर्क करे.

हमारी इस वेवसाईट पर हम कृषि से सम्बंधित पोस्ट या ब्लॉग लिखते है. ताकि किसान भाइयो को खेती के बारे में नई-नई जानकारी मिलती रहे. आप सभी से निवेदन है हमारी इस पोस्ट/ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे. पोस्ट के नीचे नीले रंग का सबमिट (Submit) का बटन है, तो उस में अपना नाम व मेल आई.डी. लिखकर, नीले रंग के सबमिट (Submit) बटन पर क्लिक करेंगे तो वेवसाईट को सब्सक्राइब हो जायेगी और जब भी हम कृषि या कृषि की योजनाओं के बारे में नई पोस्ट डालेंगे, तो आपको नोटिफिकेशन के द्वारा जानकारी मिल जायेगी. इस जानकारी को आप अपने दोस्तों में व्हाट्सअप या फेसबुक पर शेयर जरूर करे.  और अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स है उसमे अपना कमेंट, नाम एवं मेल आई.डी. लिखकर, नीले रंग के पोस्ट कमेंट के बटन पर क्लिक करे. हम शीघ्र ही आपके प्रश्न का जबाब दे देंगे.

हमारे इस नवीन ब्लॉग को पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद . Thanks a lot for Reading Our Latest Blog on www.kisanhomecart.com

खेती बाड़ी में ज्यादा जानकारी के लिए जरूर विजिट करे हमारा यूट्यूब चैनल – कृपया डिजिटल खेती – Digital Kheti चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे.
https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA

एम.एस.पी (MSP) – रबी 2019

न्यूनतम समर्थन मूल्य  (Minimum Support Price)

एम.एस.पी (MSP) रबी 2019 

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है चन्द्र शेखर जोशी और आप सभी किसान भाईयों का स्वागत है हमारी  इस वेवसाईट www.kisanhomecart.com में.

न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price)  

एम.एस.पी (MSP) रबी 2019 

यह फसलों का न्यूनतम मूल्य होता है जो की किसान को फसल उत्पादन करने पर मिलना ही चाहिए.

एम.एस.पी (MSP)  यदि मंडी में फसल का मूल्य न्यूनतम समर्थन मूल्य (एम.एस.पी.) से कम मिलता है तो फसल को वहा की प्रदेश सरकारे खरीदती है, और उनको खरीदी के लिए केंद्र सरकार (भारत सरकार) भी आर्थिक मदद करती है, ताकि किसान को उत्पादन में होने वाले नुकसान से बचाया जा सके.

एम.एस.पी (MSP) – फसल रवी मौसम  – 2019
1. गेंहू   ( Wheat )

  नई एम.एस.पी (MSP)–   1925 रुपये / क्विंटल.

 पुराना भाव – 1840 रुपये/क्विंटल.

  बढोतरी – 85 रुपये/क्विंटल.

2. चना  (Gram, Chick Pea )- 

        नई एम.एस.पी (MSP) —   4875 रुपये/क्विटल.

    पुराना भाव –  4620  रुपये/क्विंटल.

बढोतरी – 255 रुपये/क्विंटल.

3 . मसूर  (Lentil )- 

    नई एम.एस.पी (MSP)— 4800  रुपये/क्विटल.

    पुराना भाव – 4475 रुपये/क्विंटल.

बढोतरी – 325 रुपये/क्विंटल.

4. सरसों  ( Mustard ) – 

    नई एम.एस.पी (MSP) —  4425 रुपये/क्विटल.

पुराना भाव – 4200रुपये/क्विंटल.

बढोतरी – 225 रुपये/क्विंटल.

5. जौ ( Barley )- 

   नई एम.एस.पी (MSP) — 1525 रुपये/क्विटल.

   पुरानाभाव – 1440 रुपये/क्विंटल.

   बढोतरी – 85 रुपये/क्विंटल.

अभी मध्यप्रदेश सरकार द्वारा सोयाबीन, मक्का उड़द, अरहर, कपास, तिल, रामतिल आदि खरीफ फसलों को एम.एस.पी (MSP) भाव पर खरीदी की जाएगी.

अत मध्यप्रदेश राज्य के सभी किसान भाई पहले अपनी फसल का पंजीयन अपने तहसील में सहकारी समिति या निकट की मंडी में कराये, उसके बाद फसल को मंडी में बेचे.

ताकि न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ लिया जा सके.

अन्य राज्यों के किसान भाई अपने जिले में कृषि विभाग में संपर्क करे.

हमारे इस नवीन ब्लॉग को पढ़ने के लिए धन्यवाद

THANKS
for Reading Our Latest Blog on www.kisanhomecart.com,

हमारी इस वेवसाईट पर हम कृषि से सम्बंधित पोस्ट या ब्लॉग लिखते है. ताकि किसान भाइयो को खेती के बारे में नई-नई जानकारी मिलती रहे.

आप सभी से निवेदन है हमारी इस पोस्ट/ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे. पोस्ट के नीचे नीले रंग का सबमिट(Submit) का बटन है, तो उस में अपना नाम व मेल आई.डी. लिखकर व नीले रंग के सबमिट(Submit) बटन पर क्लिक करेंगे तो वेवसाईट को सब्सक्राइब हो जायेगी और जब भी हम कृषि या कृषि की योजनाओं के बारे में नई पोस्ट डालेंगे, तो आपको नोटिफिकेशन के द्वारा जानकारी मिल जायेगी. इस जानकारी को आप अपने दोस्तों में व्हाट्सअप या फेसबुक पर शेयर जरूर करे.  और अगर आप कुछ पूछना चाहते है तो पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स है उसमे अपना कमेंट, नाम एवं मेल आई.डी. लिखकर, नीले रंग के पोस्ट कमेंट के बटन पर क्लिक करे.

खेती बाड़ी के बारे में ज्यादा जानकरी के लिए हमारे यूट्यूब चैनल पर विजिट करे – धन्यवाद
https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA
 

किसान पेंशन योजना -मानधन

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना

इसमें लघु एवं सीमान्त किसानों कों अंशदायी पेंशन का लाभ दिया जायेगा.

लघु किसान – जिनके पास 1 हेक्सेटर लेकर 2 हेक्टर तक जमीन है.

सीमान्त किसान – वो किसान जिनके पास 1 हेक्टर से कम जमीन है.

अंशदायी – इसमें किसानों को भी पैसा देना है तभी उनकों पेंशन योजना का लाभ मिलेगा.

इस योजना का लाभ लेने के लिए योग्यता – इस योजना का लाभ केवल वो ही किसान ले सकते है जो लघु या सीमान्त किसान है. बड़े किसानों ( 2 हेक्टर से अधिक जमीन वाले ) को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा. और जो किसान अन्य किसी पेंशन प्लान का लाभ नहीं ले रहे हो वो किसान इस योजना का लाभ ले सकते है.

योजना के लिय आयुसीमा – इस योजना का लाभ लेने वाले किसान की आयु 18 वर्ष से लेकर 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए . 18 साल से छोटे व 40 वर्ष से अधिक उम्र के किसान इस योजना का लाभ नहीं ले सकते है.

जमा की जाने वाली राशि- इसमें जमा की जाने वाली राशि 55 रुपये से लेकर 200 रुपये प्रति माह रहेगी. जिन की उम्र कम है उनकों कम राशि जमा करना है एवं जिन किसानों की उम्र ज्यादा है उनकों ज्यादा राशि जमा करनी है. उदाहरण के लिए 18 साल के किसान को 55 रुपये  प्रति माह  , 29 साल की उम्र के किसान को 100 रुपये प्रति और 40 वर्ष की उम्र के किसान को 200 रुपये प्रति माह जमा कराना है. इस तरह उम्र के हिसाब से राशि जमा होगी.

तथा जितनी राशि किसान से ली जाएगी उतनी ही राशि केंद्र सरकार द्वारा भी किसान के पेंशन खाते में जमा करायी जाएगी.

पेंशन का लाभ – जब किसान की उम्र 60 साल हो जाएगी इसके बाद किसान के खाते में हर महीने 3000 रुपये की पेंशन मिलना शुरू हो जाएगी..

आवेदन – यह योजना 9 अगस्त 2019 से शुरू हो गई है तथा इसके आवेदन सामान्य सेवा केंद्र (common Service Centre ) पर होंगे. या जो शहर में ऑनलाइन कम्पूटर सेंटर रहते है जहा से आवेदन आदि भरे जाते है उन सेंटर से किसान भाई आवेदन कर सकते है.

कागजात – इसके लिए किसान को कम्पूटर सेंटर पर आधार कार्ड व बैंक की पासबुक लेके जाना है.

आवेदन की फीस – यह आवेदन निशुल्क है, इसके आवेदन के लिए केंद्र सरकार द्वारा आवेदन करने वाले सेंटर को 30 रुपये प्रति आवेदन का भुगतान किया जायेगा, इसलिए किसान को आवेदन के लिए कोई राशि नहीं देनी है.

प्रीमियम का भुगतान – इसमें किसान जब आवेदन करेंगे तो तो एक ऑटो डेबिट का फार्म आयेगा उसपर किसान अपने हस्ताक्षर करके वापिस कम्पुटर पर अपलोड करेंगे तो राशि स्वत उनके खाते से जमा होती रहेंगी.

और किसान चाहे तो अपनी प्रीमियम की राशि उनकों मिलने वाली प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि में से भी कटवा सकते है. आवेदन के समय यह आप्शन आयेगा. इस तरह किसान बही प्रीमियम का भुगतान कर सकते है.

आवेदन करने के लिए एवं ज्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करे.

www.pmkmy.gov.in

www.pmkisan.gov.in

खेती बाड़ी के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए हमारे यूट्यूब चैनल की इस लिंक पर क्लिक करे –

अन्य शर्ते या नियम – 60 वर्ष से पूर्व किसान की मृत्यु होने पर चाहे तो प्रीमियम भरके किसान की पत्नी पेंशन प्लान को चालू रख सकती है. एवं 60 साल पुरे होने पर पत्नी को पेंशन मिलना शुरू हो जाएगी.

अगर 60 वर्ष की उम्र होने के पूर्व ही किसान की मृत्यु हो जाती है और किसान की पत्नी पेंशन योजना नहीं चाहती है तो जो राशि किसान ने जमा करायी थी वह ब्याज सहित वापिस मिल जाएगी.

अगर किसान की मृत्यु 60 वर्ष के बाद ( पेंशन शुरू होने के बाद ) होती है तो किसान की पत्नी को आधी पेंशन मिलेगी.

दोनों की मृत्यु हो जाने पर पेंशन का जमा फंड सरकार के पेंशन फंड में वापिस चला जायेगा.

इस योजना में महिला व पुरूष दोनों किसान ले सकते है.

Courtesy- krishi and kisan kalyan mantralay bharat sarkar, facebook page and website of of krishi and kisan kalyan mantralay bharat sarkar.

प्रीमियम राशि कैसे जाने फसल बीमा की

  • फसल बीमा की प्रीमियम राशि,
  •  बीमा की प्रीमियम राशि,
  • Fasal Bima ki Premium Rashi
  •  Premium Amount of crop insurance
  • Crop Insurance -2018-19
सबसे पहले अपने मोबाइल या कम्पूटर पर गूगल या अन्य कोई ब्राउज़र खोले.

 

 

 

इसके बाद ब्राउज़र के सर्चवार में पी.एम.एफ.बी.वाई. (pmfby) टाइप करे. और सबसे नीचे दाई तरफ के तीर के निशान पर क्लिक करे.

 

 

 

 

 

तो इस तरह http://pmfby.gov.in  लिखा हुआ आएगा.  इस पर क्लिक करना है

 

 

 

 और इस तरह प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की वेवसाईट खुल जाएगी. इसमें दुसरे नंबर का जो बटन दिख रहा है जिस पर बीमा प्रीमियम केलकुलेटर (Insurance Premium Calculator) लिखा है, उस पर क्लिक करे.

 

 

 

 

 

 

जैसे ही बीमा प्रीमियम कैलकुलेटर बटन पर क्लिक करेंगे तो इस तरह का आयेगा इसमें से फसल बुवाई का मौसम और बीमा करवाने का साल चुने.
इसमें बुवाई का मौसम रबी व बीमा का वर्ष 2018-19  या  वर्तमान वर्ष चुने . और साइड में स्लाइडर आयेगा इस पर अंगूठा से ऊपर करे और आगे बड़े.

 

 

नीचे जायेंगे तो बीमा की स्कीम आयेगी व उसके बाद राज्य आएगा.

 

 

 

 

स्कीम में प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना चुने व राज्य वाले खाने में अपना स्वयं का राज्य चुने जिस राज्य में आप रहते या खेती करते है.

 

 

 

जिले (District) वाले खाने में अपना जिला लिखे व फसल (Crop) वाले खाने में जिस फसल के लिए बीमा के लिए प्रीमियम की राशि जाननी है उस फसल का नाम चुने.

 

 

 

फसल का नाम व फसल का रकवा लिखे जिसके लिए आपको प्रीमियम की राशि पता करना है. इसमें फसल का रकवा हेक्टर में लिखा जाता है.
इसके बाद केल्कुलेट ( Calculate) वाले पीले बटन पर क्लिक करे.
 पीले रंग के केल्कुलेट बटन पर क्लिक करने से फसल की प्रीमियम राशि आ जाएगी व आपकों फसल की कुल बीमित राशि भी आपको दिखाई देंगी.
एक फसल की प्रीमियम राशि व कुल बीमित राशि मालूम करने के बाद अन्य किसी दूसरी फसल की प्रीमियम राशि जानने के लिए रीसेट ( Reset) वाले बटन पर क्लिक करे. फिर सभी जानकारी भरे व केल्कुलेट बटन पर क्लिक करने से दुवारा प्रीमियम की कुल बीमित राशि आ जाएगी.
अत आप रिसेट द्वारा किसी व फसल के प्रीमियम राशि आसानी से पता कर सकते है.
वेवसाईट की भाषा बदलने के लिए इस वेवसाईट पर ऊपर, दाई तरफ change Language (भाषा चुने ) का आप्शन आएगा उस पर क्लिक करे और अपनी स्वयं की भाषा चुने. 

 

 

 

 

ज्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करे

https://youtu.be/koqhfMMZbjk

फसल बीमा के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करे –

https://youtu.be/yKpgx7L5en4

कृषि तकनीकि प्रबंधन एजेंसी

कृषि तकनीकि प्रबंधन एजेंसी (आत्मा),

AGRICULTURE TECHNOLOGY MANAGEMENT AGENCY (ATMA)

  • यह एक केन्द्र सरकार की परियोजना है जो राज्य व केंद्र दोनों द्वारा मिल कर चलाई जाती.
  • यह पूरी तरह खेती के उच्च व नवीन तकनीकि के विस्तार के लिए है.
  • यह योजना भारत देश के सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों कृषि विभाग के अधीन चल रही है.
  • विभिन्न कृषि के केन्द्रों में चल रही अनुसन्धान व उन्नत तकनीकि को किसानों तक पहुचाने का काम कर रही है.
  • जिले के आत्मा की सरंचना-
  • परियोजना संचालक
  • उप परियोजना संचालक
  • बिकासखण्ड तकनीकि मेनेजर
  • सहायक तकनीकि मेनेजर
  • किसान मित्र
  • किसानों के लिय विस्तार के विभिन्न साधन –
  • प्रशिक्षण – इसमें किसानों को एक जगह ले जाकर प्रशिक्षण दिलवाया जाता है.
  • भ्रमण – इसमें किसानों को जगह जगह भ्रमण कराया जाता है.
  • प्रदर्शन – इसमें तकनीकि के प्रदर्शन के लिए सीमित किसानो को आदान(खाद, बीज व दवाई) प्रदान किये जाते है.
  • अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन – इसमें भी वैज्ञानिकों की अनुशंषा के अनुसार आदान प्रदान किये जाते है तथा यह प्रदर्शन वैज्ञानिकों के मार्गदर्शन में किया जाता है.
  • फार्म फील्ड स्कूल – इसमें चयनित किसानों के यहाँ एक हेक्टर का प्रदर्शन लगाया जाता है, व किसानों के समूह को फसल की विभिन्न अवस्था पर पैदावार, रोग व कीड़ो के बारे में मार्गदर्शन दिया जाता है.
  • किसान संगोष्ठी – इसमें किसानों को विभिन्न वैज्ञानिकों व विभागों के अधिकारिओ द्वारा किसानों को खेती आदि के बारे में मार्गदर्शन दिया जाता है.
  • क्षमता विकास प्रशिक्षण – इसमें किसानों को ग्राम स्तर पर समूह में खेती व खेती से सम्बंधित अन्य व्यवसाय विषय पर मार्गदर्शन दिया जाता है.
  • नवाचार – इसमें किसानों के यहाँ या समूह में खेती या खेती से सम्बंधित अन्य की नवीन तकनीकि का प्रदर्शन किया जाता है.
  • सीड मनी- इसमें किसानों के समूह बनाकर कुछ आर्थिक सहायता दी जाती है, ताकि वो समूह में या खेती में कुछ अच्छा कर सके.
  • उत्कृष्ठ किसान अथवा समूह पुरूस्कार – जो किसान या किसानों का समूह खेती, पशुपालन, रेशमपालन, उधानिकी फसलों, मछलीपालन या अन्य में कुछ अच्छा करते है तो उनको प्रोत्साहित करने के लिए पुरूस्कार दिया जाता है.
  • किसान मेला – इसमें जिले स्तरपर हर साल, कृषि की विभिन्न कंपनियों व विभिन्न विभागों द्वारा प्रदर्शनी का आयोजन किया जाता है. जिसमे जिले के अधिक अधिक से किसानों को उन प्रदर्शनी में आमंत्रित किया जाता है.
  • किसान मित्र – यह हर दो गाँव में बीच में एक गाँव का ही पढ़ा लिखा किसान रहता है जो किसानों को गावों में खेती आदि के बारे में जानकारी देता है एवं विभाग के विभिन्न विस्तार की क्रियाविधियो को करने में मदद करता है.
  • प्रशिक्षण या भ्रमण में किसानों को 3-10 दिन तक, जिले में, जिले के बाहर या राज्य के बाहर ले जाया जाता है. इसमें कृषि के विभिन्न संस्थानो, कृषि विज्ञानं केंन्द्रों, प्रगतिशील किसानों आदि के यहाँ ले जाया जाता है, तथा किसानों कों खेती, पशुपालन, रेशमपालन, उधानिकी फसलों, मछलीपालन या अन्य के बारे में नवीन व उन्नत तकनीकि की जानकरी दिलवाई जाती है.

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

नए समर्थन मूल्य की घोषणा 2018

  •  एम.एस.पी (MSP)- रबी 2018 

  • न्यूनतम समर्थन मूल्य (एम.एस.पी)
  • Minimum Support Price (MSP)
  • यह फसलों का वह न्यूनतम मूल्य होता है जिसका मतलब है कि कम से कम यह भाव या दर तो किसान को फसल उत्पादन करने पर मिलना ही चाहिए. ताकि किसानों को फसल उत्पादन या खेती करने में नुकसान न हो .
  • यदि मंडी में इस मूल्य से कम मूल्य मिलता है तो फसल को सरकार खरीदती है ताकि किसान को होने वाले नुकसान से बचाया जा सके.
  • अधिकतम समय बाजार/मंडी में फसल का भाव न्यूनतम समर्थन मूल्य के बराबर या ज्यादा ही रहता है. इसलिए सरकार फसलों का न्यूनतम मूल्य घोषित करती है.
  • समय अनुसार सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य में बढोतरी करती रहती है ताकि फसल के भाव महगाई अनुसार रहे व किसान को उनकी फसल का उचित मूल्य मिलता रहे.
  • 1. गेहू ( Wheat )

  • 1840 रुपये / क्विंटल .
  • पुराना एम.एस.पी. – 1735 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 105 रुपये/क्विंटल.
  • 2. चना (Gram, Chick Pea )- 4620 रुपये/क्विटल.
  • पुराना एम.एस.पी.– 4400 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 220 रुपये/क्विंटल.
  • 3 . मसूर  (Lentil )-  4475 रुपये/क्विटल.
  • पुराना एम.एस.पी.– 4250 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 225 रुपये/क्विंटल.
  • 4. सरसों ( Mustard )-  4200 रुपये/क्विटल.
  • पुराना एम.एस.पी.– 4000 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 200 रुपये/क्विंटल.
  • 5. जौ ( Barley ) – 1440 रुपये/क्विटल.
  • पुराना एम.एस.पी. – 1410 रुपये/क्विंटल.
  • बढोतरी – 30 रुपये/क्विंटल.
  • मध्यप्रदेश में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसलों को खरीदने के लिए भावान्तर भुगतान योजना चल रही है. अत सभी किसान भाई पहले अपनी रवी फसलों का पंजीयन कराये उसके बाद फसल को मंडी में बेचे. यह पंजीयन हर साल किया जाता है.
  • ताकि न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ लिया जा सके.
  • विस्तृत जानकारी के लिए किसान भाई भावान्तर भुगतान योजना पर मेरे लेख को पढ़े.
  • अन्य राज्यों के किसान भाई कृषि विभाग में संपर्क करे.