DAESI, Agriculture inputs,- Fertilizers, Seeds, Pesticides

DAESI, Diploma in Agriculture Extension Services for Input Dealer.

Business of fertilizers, seeds and pesticides is very reputed. Margins are enough good in this. So, person who pursue this business get good benefit.

Agriculture inputs — Fertilizers, Seeds & Pesticides. Fertilizers and Manure – In this NPK, DAP, single super phosphate/ super, Urea, Murate of Potash/ Potash, Sulphur, Zink Sulphate etc Fertilizers come. In includes all kind of fertilizers viz. organic, chemical, liquid, solid etc. Seeds- it includes hybrid, BT, certified etc. seeds of maize, sorghum, pearl-millet, cotton, sunflower, wheat, chick pea, soybean etc. Pesticides – This includes insecticide, which is used to control insects of the crops, fungicides, which is used to control diseases and weedicides, which is used to control weed or waste plants in the crops. It includes both kind of organic and chemical pesticides.So, anyone who wants to run business of agriculture inputs can contact in agriculture and horticulture government department to acquire license .

I have made four videos regarding- eligibility for license, required documents and fees of the license. These videos can be seen on our YouTube channel – Digital Kheti. Link of this channel can be seen at the end of this post. I have written also some blog post about this, which can be seen by scrolling down the posts.

DAESI, Diploma in Agriculture Extension Services for Input Dealers. Earlier anyone can take the agriculture input license whatever education he has. But now the law or eligibility for input license, has changed. This change is made to provide necessary and appropriate, knowledge about fertilizer, seed and pesticide to the farmers through well trained dealers. So, the old dealers or sellers of inputs ( who practice agriculture input business already) who do not have requisite eligibility for license, can do this diploma. After getting this diploma they can run their business further. Without this diploma the old dealers can not renew their input licenses.

To pursue this diploma, they can contact to agriculture department. Its fee is Rs. 20 thousand. In this diploma there is total 48 session of classes. these session are consisted of  40 sessions of classroom teaching and 8 session of practical session. In practical session the dealers will be taken for field visit. Classes of this diploma will be held on each Sunday or on public holidays. This is one-year diploma course. During these sessions, tea and lunch are arranged to them. Vehicles are also arranged for field visit.

To start a batch in diploma course, 40 registration of dealers is required. After completion the sessions, examination will be conducted. Certificate of DAESI will be given to aspirants who get 40 % and more 40 % of the total marks. This diploma is offered from MANAGE, Hyderabad. Diploma course is managed by  agriculture department in the district. To apply for this diploma duly filled application is deposited with fees receipt and two recent passport size photos in agriculture department of your (dealer) district.

Nodal training centre for diploma is decided by MANAGE, Institute Hyderabad and district agriculture department under guidance of state agriculture department.10 thousand rupees are subsidized by DAC, Government of India from fee amount of 20 thousand Rs.Diploma is offered in the district of dealers.

There is not necessary to do this diploma course to the Old dealers who or their family members, have eligibility as per the new guideline or law. So old dealers can submit copy of their or their family member educational certificate in the agriculture department at the time of license renew. Other persons can be sponsored behalf of them to do the diploma if dealers or their family member can not do diploma due to some reasons.

For more information visit our YouTube Channel – Digital Kheti—-Please click on this Link-

https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA

DAESI, देसी, डेसी, डिप्लोमा इन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन सर्विसेज फॉर इनपुट डीलर.

Diploma in Agriculture Extension Services for Input Dealer., DAESI, देसी, डेसी, डिप्लोमा इन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन सर्विसेज फॉर इनपुट डीलर.,

कृषि में खाद, बीज व दवाई का व्यवसाय बहुत ही सम्मानजनक व लाभ वाला है. इसमें मार्जिन बहुत अच्छा रहता है,तो इनका व्यवसाय करने वाले को लाभ बहुत अच्छा मिलता है. खाद – इसमें एन.पी.के.,डी.ए.पी., सिंगल सुपर फॉस्फेट/ सुपर/ राकोडिया, यूरिया, म्यूरेट ऑफ़ पोटाश/पोटाश, सल्फर खाद, जिंक सल्फेट आदि आते है. इसमें जैविक व रासायनिक तथा तरल व ठोस, आदि सभी प्रकार के खाद आते है. बीज (Seeds)– संकर, बी.टी. व प्रमाणित बीज. मक्का,ज्वार, बाजरा, कपास, सूरजमुखी, गेहू, चना, सोयाबीन आदि के बीज. दवाई/पेस्टिसाइड (Pesticides)- इसके अन्तरगत कीड़ो को मारने व नियंत्रण करने वाली दवाई कीटनाशी (Insecticide), रोगों को ठीक करने वाली या रोगों के कारक बैक्टीरिया वायरस या कवक को मारने वाली दवाई कवकनाशी (fungicide) आदि, तथा फसल में उगने वाले कचरे या फालतू पौधों या खरपतवार को नष्ट करने के लिए खरपतवारनाशी (Herbicide) आती है. इसमें जैविक व रासायनिक दोनों प्रकार की दवाई आती है.

इस तरह से जो भी इन कृषि आदानों (खाद,बीज व दवाई) का  व्यवसाय करना चाहता है, वह अपने जिले में कृषि विभाग व उधानिकी विभाग में संपर्क करके इनका लाइसेंस बनवा सकता है व व्यवसाय शुरू कर सकता है.इसके व्यवसाय करने के लिए किन-किन योग्यताओ (शिक्षा), कागज (documents) व फीस कितनी लगेगी, इसकी मैंने चार वीडियो बनाई है, जिनको आप हमारे यूट्यूब चैनल (डिजिटल खेती )पर जाकर देख सकते है, उसकी लिंक आपको इस पोस्ट के अंत में मिल जाएगी. योग्यताओ व फीस आदि के वारे मैंने और पोस्ट मैंने लिखी है. वह पोस्ट नीचे की पोस्ट में मिल जाएगी, वहा से पढ़कर आप जानकारी ले सकते है.

DAESI देसी डेसीडिप्लोमा इन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन सर्विसेज फॉर इनपुट डीलर. Diploma in Agriculture Extension Services for Input Dealer.पहले कृषि आदानों का लाइसेंस कोई भी ले सकता है, चाहे उसकी शिक्षा कुछ भी हो, चाहे उसने कृषि या उससे से सम्बंधित शिक्षा ली हो या न ली हो,लेकिन अभी कुछ साल पहले खाद,बीज व दवाई का लाइसेंस लेने की योग्यताओ (शिक्षा आदि ) में परिवर्तन किया गया था. ताकि इन खाद ,बीज व दवाई की सही मात्रा, सही उपयोग का तरीका या समय, सही दवाई, खाद व बीज आदि की जानकारी मिल सके. इसके लिए पुराने कृषि आदानों (खाद बीज दवाई) के विक्रेताओ को जिनके पास लाइसेंस के लिए चाही गई योग्यताये न होने की दशा में वो इस डिप्लोमा को करके अपने बिज़नेस को जारी रख सकता है, अगर पुराना विक्रेता इस डिप्लोमा को नहीं करेगा तो उसका लाइसेंस पुनःनवीनीकरण (Renew) नहीं होगा इसलिए उसको इस डिप्लोमा को करना बहुत जरूरी है.

इस डिप्लोमा को करने के लिए कृषि विभाग में संपर्क करना है. इसकी फीस 20 हजार रुपये है.जिसमे कुल 48 सेशन होंगे. इसमें से 40 क्लास रूम सेशन होंगे जिसमे विक्रेताओ को पढाया जायेगा, तथा 8 सेशन प्रैक्टिकल होंगे जिसमे फील्ड भ्रमण कराया जायेगा.इसकी क्लास हर रविवार (Sunday) या शासकीय अवकाश के दिन लगेगी.यह कुल एक साल का डिप्लोमा है.इसमें विक्रेताओ के लिए चाय व खाने (Lunch) की व्यवस्था रहती है.तथा फील्ड भ्रमण के लिए गाड़ी की भी व्यवस्था रहती है.इसमें
डिप्लोमा प्रारंभ करने के लिए, एक बैच में 40 लोग होने चाहिए.इसमें पढाई के बाद परीक्षा होगी जिसकों परीक्षा पास करना अनिवार्य है. जिनके अंक 40% या 40% से अधिक आएंगे वो पास हो जायेंगे और डिप्लोमा का सर्टिफिकेट मिल जायेगा.

यह डिप्लोमा MANAGE हैदराबाद द्वारा कराया जाता है.,जिले में इसकी जिम्मेदारी कृषि विभाग की रहती है. तो इस डिप्लोमा को करने के लिए आवेदन – आई डी.की फोटो कॉपी व फीस व बैंक खाते की जानकारी आदि, अपने जिले में कृषि विभाग में जमा कराये, जैसे ही 40 लोगो का पंजीयन हो जायेगा तो डिप्लोमा का बैच प्रारंभ कर दिया जायेगा. इसमें मैनेज इंस्टिट्यूट हैदराबाद व कृषि विभाग जिले में नोडल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट का निर्धारण करता है. जिसमे डिप्लोमा की पढाई करवाई जाती है.फीस की 20 हजार की राशी में से 10 हजार रुपये का अनुदान या छूट दी जाती है,जो डिप्लोमा पूरा करने के बाद उनके खातो में वापिस की जाती है.

इसमें विक्रेता के स्वय के जिले में ही डिप्लोमा कराया जाता है. पुराने डीलर या विक्रेता जो नए नियमो के अनुसार लाइसेंस की योग्यता रखते है, उनकों इस डिप्लोमा को करने की जरूरत नहीं है. वो अपने स्वयं के या अपने घर के सदस्यों की पढाई के सर्टिफिकेट की कॉपी नवीनीकरण के समय कृषि विभाग में जमा करा सकते है.

कृपया ज्यादा जानकारी के लिए हमारे यूट्यूब चैनल की इस लिंक पर क्लिक करे –

https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA

ज्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर भी क्लिक कर सकते है या इसकी पूरी गाइडलाइन इंग्लिश में मिल जाएगी.

https://www.manage.gov.in/daesi/guidelines.pdf

खाद बीज दवाई के लायसेंस की फीस

खाद बीज दवाई के लायसेंस की फीस जो भी व्यक्ति खेती बाड़ी, कृषि से जुड़े है एवं जो थोड़े पढे लिखे है उनके लिए खेती में काम आने वाले खाद/ उर्वरक, बीज व दवाई आदि की दुकान खोलकर व्यवसाय करना बहुत ही फायदेमंद है. इसमें कोई भी व्यक्ति जो इस तरह का व्यवसाय करना चाहता है इन सभी का लाइसेन्स बनवाकर व्यवसाय कर सकता है. इसमें खाद, बीज व दवाई का लाइसेंस अलग अलग लेना पड़ता है. एक ही व्यक्ति इन तीनो का लाइसेन्स ले सकता है.खाद/उर्वरक – इसमें रासायनिक या जैविक दोनों तरह के खाद आते है. जैसे डी.ए.पी., यूरिया, एन.पी.के. म्यूरेट ऑफ़ पोटाश आदि. बीज – विभिन्न फसलों के प्रमाणित बीज, संकर बीज, बी.टी. बीज आदि. सब्जियों का बीज, फूलों का बीज आदि. दवाई – इसमें पेस्टिसाइड आते है, जिसमे कीटनाशी ( कीड़ो को मारने वाली दवाई ), कवकनाशी ( रोगों को ख़त्म करने वाली दवाई ), खरपतवारनाशी ( फसल में उगने वाले खरपतवारो को नष्ट करने वाली दवाई ) आदि.इसमें खाद, दवाई व विभिन्न फसलों के बीजों के लाईसेंस कृषि विभाग से बनेंगे. व उधानिकी फसलों के बीजों ( फल व सब्जी का बीज ) का लाइसेन्स उधानिकी विभाग से बनवाना पड़ेगा.   लाइसेंस की फीस – खाद/उर्वरक का लाईसेन्स – रिटेल शॉप की फीस  (फुटकर/खुदरा दुकान का लाइसेंस ) 1250 रुपये. रिटेलर – जो बड़े दुकानदार से खाद खरीदते है और फिर किसान को बेचते है. होलसेल शॉप की फीस – ( थोक की दुकान का लाईसेन्स ) – 2250 रुपये. होलसेलर – जो सीधे कंपनी से खाद खरीदते है फिर छोटे दुकानदार व किसानों को खाद बेचते है.

पेस्टिसाइड का लाइसेन्स –ग्राम/ग्राम पंचायत में दुकान खोलने के लिए लाईसेन्स की फीस  – 1500 रुपये तहसील/विकासखण्ड/जिला में दुकान खोलने के लिए लाईसेंस की फीस -7500 रूपये. बीज का लाइसेंस –फसलों का बीज/ सब्जी के बीजों के लाइसेंस की फीस – 1000 रुपये.

इस तरह से कोई भी व्यक्ति लाइसेंस बनवाकर गाँव/तहसील/विकासखंड व जिले में खाद बीज दवाई की दुकान आसानी खोल सकता है.

ज्यादा जानकारी के लिए हमारे यूट्यूब चैनल —-डिजिटल खेती Digital Kheti ——की इस लिंक पर क्लिक करे व पूरी जानकारी प्राप्त करे.

https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA

Where to Apply for License of Seed, Pesticides & Fertilizers,

License for Fertilizer, Seed & Pesticides with & Without Agriculture Degree.
License for Seed, Pesticides & Fertilizers.
Agriculture Inputs (seed, Pesticide & Fertilizers)
Where to Apply for License of Seed, Pesticides & Fertilizers

  1. B.Sc., M.Sc., & Ph.D.  (Agriculture)
  • Person who have B. Sc. or higher degree of Agriculuture can get license for Seed, Pesticides & Fertilizer.
  • B. Sc. Agriculture-
  • B.Sc. Agriculture includes agriculture, Horticulture, agriculture engineering, Fisheries, veterinary etc. Generally, persons who possess degree in fisheries & veterinary do not apply for License for Agriculture inputs.
  • 2. B. Sc. Or M. Sc. (Biology, Zoology, Botany, Math)
  • If they have chemistry subject during their course curriculum or degree.
  • Such person can get license of seed, pesticides & fertilizers.
3. Sc. Or M. Sc. (Biology, Zoology, Botany, Math)
  • Passed persons if do not have chemistry subject during their course curriculum or degree.
  • Such person can get license of seed, & pesticides only.
  • They cannot get Fertilizers license.
4.  Sc.  M. Sc.  or Ph.D. (Chemistry)

. The person who have degree in chemistry can get license of Seed, Pesticides & Fertilizer.

5. License of Fertilizers.

Agriculture Diploma from an Affiliated or authorised Institute.

If they do not fulfilled above given requirement then such Persons can get  Agriculture Diploma from Affiliated or Authorised Institute and then can apply for license of Fertilizer.

6. License of Seed
  • There no need of any degree for seed license.
  • Minimum 10th passed or Higher educated person can apply for seed license.
  • Where to Apply for Licenses-
  • For Pesticides, Fertilizers and Field Crops seed License apply in Agriculture Department of your own District.
  • And apply for vegetable & fruit seed license in Horticulture Department.
7. Old Agriculture Dealers
  • Old Agriculture inputs Dealers who do not have degree of agriculture, Biology or Chemistry and want to renew their license can apply for agriculture diploma.
  • Dealers can get information about it from agriculture department of their own District.
  • The name of Diploma is –  (Diploma in Agriculture Extension Services for Input Dealers.)
  • Its class will be conducted on every Sunday.
  •  Duration for diploma is 48 weeks or one year.
  • Cost or fees of this Diploma is Rs. 20000/- ( Twenty Thousand Rupees Only).
  • 8. New Dealers-
  • New Dealers can take seed, pesticides & fertilizers from big and old whole seller or Dealers.
  • and can run their business softly.
  • and after some years when they have good turnover can take agriculture input directly from company.
  • So, any person/Farmer who fulfilled these formalities can take license of input and can run a business.
  • For more information search our channel —-Digital Kheti—– on YouTube and see some video related to it.
  • Thank You.