License for Seed, Pesticides & Fertilizers, बीज, कीटनाशकों और उर्वरकों के लिए लाइसेंस

बीज, दवाई (पेस्टीसाइड्स) व खाद(उर्वरक) के लिए लाइसेंस

कृषि आदान (खाद, बीज व दवाई) के लिए लाइसेंस

खाद, बीज व दवाई के लाइसेंस के लिए कहाँ आवेदन करे

कृषि की डिग्री वाले व विना डिग्री वालों के लिए खाद, बीज व दवाई का लाइसेंस.

  बी.एस.सी., एम.एस.सी., एवं पी.एच.डी. (कृषि) :-

जिन लोगों ने कृषि में बी.एस.सी., एम.एस.सी., एवं पी.एच.डी. की डिग्री कर रखी है उनकों खाद, बीज व दवाई तीनों का लाइसेंस मिल जायेगा. ये लोग एक साथ तीनों या एक या दो लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते है.

लाइसेंस के लिए न्यूनतम योग्यता स्नातक है.

बी.एस.सी., एम.एस.सी., एवं पी.एच.डी. (कृषि) के अंतर्गत कृषि, उधानिकी, कृषि इंजीनियरिंग, पैथोलोजी, पादप प्रजनन, एग्रोनोमी, कृषि विस्तार, कृषि इकोनोमी, पशु चिकित्सा, फिशरीज आदि आते है.

बी.एस.सी., एम.एस.सी., एवं पी.एच.डी. ( जीवविज्ञान, जन्तुविज्ञान, वनस्पति विज्ञान, गणित, फार्मेसी आदि) – यदि इन लोगों के पास डिग्री के दौरान रसायन विज्ञान एक विषय के रूप में होगी तो इन लोगो को खाद, बीज एवं दवाई तीनों के लाइसेंस मिल जायेंगे.

बी.एस.सी., एम.एस.सी., एवं पी.एच.डी. ( जीवविज्ञान, जन्तुविज्ञान, वनस्पति विज्ञान, फार्मेसी आदि) – यदि इन लोगों के पास डिग्री के दौरान रसायन विज्ञान एक विषय के रूप में नहीं होगी तो इन लोगों को केवल बीज एवं पेस्टीसाइड का ही लाइसेंस मिलेगा.

इनको खाद का लाइसेंस नहीं मिलेगा.

बी.एस.सी., एम.एस.सी., एवं पी.एच.डी. एवं इंजीनियरिंग ( रसायन विज्ञान) – जिन लोगों ने अपनी डिग्री रसायन विज्ञान में की है उनको तीनों लाइसेंस मिल जायेंगे.

खाद, बीज एवं पेस्टीसाइड का लाइसेंस के लिए डिप्लोमा

जिन लोगों के पास किसी भी प्रकार की डिग्री नहीं है या जो लोग लाइसेंस के लिए आवश्यक योग्यता नहीं रखते है उन लोगों को लाइसेंस लेने के लिए किसी पंजीकृत/प्रमाणित संस्थान/कॉलेज/विश्वविद्यालय आदि से कृषि में डिप्लोमा करना होगा. कृषि में डिप्लोमा करने पर इन लोगो को तीनों का लाइसेंस मिल जायेगा.

बीज का लाइसेंस –

बीज का लाइसेंस लेने के लिए किसी डिग्री या डिप्लोमा की आवश्यकता नहीं है.

जो लोग न्यूनतम 10 वी पास है उनको बीज का लाइसेंस मिल जायेगा.

  • लाइसेंस के लिए कहाँ आवेदन करे –
  • फसलों के बीज, खाद/उर्वरक व पेस्टीसाइड का लाइसेंस लेने के लिए अपने जिले/तहसील/विकासखंड/पंचायतसमिति/मंडल में कृषि विभाग में संपर्क करे.
  • इन तीनों का लाइसेंस कृषि विभाग से ही जारी होता है.
  • सब्जियों व फलों के बीजों का व्यापर करने के लिए आवश्यक लाइसेंस के लिए उधानिकी विभाग में सम्पर्क करे.

इस तरह से कोई भी लाइसेंस लेकर खाद, बीज एवं पेस्टीसाइड का व्यापार कर सकता है.

शुरूआत में नया डीलर  किसी पुराने एवं बड़े डीलर/होलसेलर से खाद बीज लेकर अपनी दुकान चला सकते है.

कुछ सालों के बाद जब उनका टर्नओवर या व्यापार ज्यादा हो जाता है तो उनकों कंपनी डायरेक्ट खाद, बीज आदि देने लग जाती है. व्यक्ति चाहे तो एक या दो या तीनों लाइसेंस एक साथ ले सकता है.

ज्यादा जानकारी के लिए इन लिंक पर क्लिक करे

लाइसेंस की फीस के लिए –

पुराने डीलर/ होलसेलर के लिए लाइसेंस नवीनीकरण ( Renew ) करने के लिए

लाइसेंस के लिए आवश्यक कागजात के लिए

गेंहू फसल में खरपतवार का नियंत्रण

    • गेंहू के खरपतवारनाशी ,
    • गेंहू में खरपतवार का नियंत्रण,
    • गेंहू फसल में खरपतवार एक मुख्य समस्या है, इसके नियंत्रण के लिए बुवाई के बाद खडी फसल में खरपतवारनाशी का स्प्रे किया जाता है.
    • खरपतवारनाशी का नाम – क्लोडिनाफोप प्रोपरजिल 15% + मेटसल्फूरोन मैथिल 1 % डवल्यू.पी.
    • Clodinafop Propargyl 15% + Metsulfuron Methyl 1% WP.

  • इसका प्रयोग खडी फसल में बुवाई के 20-25 दिन बाद किया जाता है.
  • यह सकरी पत्ती व चौड़ी पत्ती दोनों प्रकार के खरपतवारों को नष्ट करता है.
  • खरपतवारनाशी – इसके डिब्बे में दो पैकिट  आती है एक 160 ग्राम दवाई (पावडर रूप में)का और दूसरा 500 मिली. (द्रव रूप में)का पैकेट जो खरपतवारनाशी की कार्य करने की क्षमता को बढाता है.
  • घोल तैयार करना – इसके लिए एक बाल्टी में 10 लीटर  या 10 ग्लास पानी लीजिये. इसमें पहले 160 ग्राम दवाई मिलाये इसके बाद 500  मिली. के पैकेट को मिलाये व लकड़ी आदि की सहायता से अच्छी तरह से घोल ले.
  • एक पम्प में एक लीटर या एक ग्लास दवाई व पम्प को पानी से भरे व स्प्रे करे.
  • यह दवाई एक एकड़ के लिए है इसलिए एक एकड़ में 10 पम्प दवाई का स्प्रे करे.
  • इसकी कीमत 550 रुपये रहती है एक एकड़ के लिए.
  • सावधानी –
  • इसके प्रयोग के समय खेत में नमी होना आवश्यक है की अन्यथा यह अच्छी तरह काम नहीं करती है.
  • दवाई के प्रयोग करने के बाद पम्प को अच्छी तरह साफ करके रखे.
  • ज्यादा जानकारी के लिए खोजे यूट्यूब चैनल – डिजिटल खेती —Digital Kheti—
  • https://www.youtube.com/channel/UC8y4ihEQyARwqQMGbzR4ISA